बिहार में शराब से लगातार मौतों के बाद जागी नीतीश सरकार, ताबड़तोड़ छापेमारी में 568 से अधिक लोग गिरफ्तार

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शराब के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में दर्जनों अवैध भट्ठियां ध्वस्त की गई हैं। छापेमारी के दौरान 15 हजार लीटर से अधिक अंग्रेजी शराब, 3400 लीटर से अधिक देशी शराब, 500 लीटर स्प्रिट बरामद किया गया।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में हाल के दिनों में जहरीली शराब पीने से करीब तीन दर्जन लोगों की मौत के बाद लगता है नीतीश सरकार जाग गई है। पिछले 5 दिनों में पुलिस और मद्य निषेध विभाग की टीम ने ताबड़तोड़ छापेमारी कर 568 लोगों को गिरफ्तार किया है और भारी मात्रा में अवैध शराब बरामद किया है। संयुक्त टीम ने प्रभावित चार जिलों मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, बेतिया और समस्तीपुर में करीब 750 स्थानों पर छापेमारी करते हुए इन लोगों को गिरफ्तार किया है। इस दौरान 71 वाहनों को भी जब्त किया गया है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राज्य के विभिन्न इलाकों में शराब के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में दर्जनों शराब की अवैध भट्ठियां ध्वस्त की गई हैं। उन्होंने बताया कि छापेमारी के दौरान 15 हजार लीटर से अधिक अंग्रेजी शराब, 3400 लीटर से अधिक देशी शराब, 500 लीटर स्प्रिट बरामद किया गया है।


आंकड़ों के मुताबिक, गोपालगंज में 374, मुजफ्फरपुर में 166, पश्चिम चंपारण में 177 और समस्तीपुर में 32 छापेमारी की गई। इस दौरान मुजफ्फरपुर में सबसे अधिक 254 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस दौरान 347 मामले दर्ज किए गए। पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक इस क्रम में आठ लाख रुपये से ज्यादा नकद बरामद किया गया है।

गौरतलब है कि पिछले एक पखवाड़े के दौरान राज्य के गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, पश्चिम चंपारण और समस्तीपुर जिले में 40 से अधिक लोगों की मौत शराब पीने से हुई है। सूबे में पूर्ण शराबबंदी के बावजूद इतने बड़े पैमाने पर लोगों की शराब पीने से मौत के बाद सवालों के घेरे में आए सीएम नीतीश कुमार ने सख्ती दिखाते हुए 16 नवंबर को शराबबंदी की समीक्षा करने की बात की है। इधर, शराब पीने से हो रही मौतों के बाद राज्य में सियासत भी गर्म है। विपक्ष इन मौतों को लेकर सरकार पर निशाना साध रहा है और लगातार नीतीश कुमार पर हमलावर है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia