दिल्ली से हरियाणा आने के लिए कोरोना निगेटिव सर्टिफिकेट लाना होगा, वर्ना भेज दिए जाएंगे वापस: खट्टर सरकार फैसला

हरियाणा की खट्टर सरकार का दावा है कि राज्य में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मामले उन्हीं जिलों में हैं जो दिल्ली से लगे हुए हैं। ऐसे में सरकार ने दिल्ली से आने वाले हर व्यक्ति के लिए कोरोना निगेटिव सर्टिफिकेट अनिवार्य कर दिया है।

फोटो : Getty Images
फोटो : Getty Images
user

धीरेंद्र अवस्थी

देश में लॉकडाउन के चौथे चरण की शुरुआत हो चुकी है लेकिन इससे पहले ही हरियाणा सरकार ने साफ कर दिया है कि वह कंटेनमेंट जोन से बाहर आर्थिक गतिविधियां शुरू करने के पक्ष में है। चौथा चरण बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री की तरफ से मांगे गए सुझावों में हरियाणा की अपनी राय यही थी।

कोरोना संकट के साथ अर्थव्‍यवस्‍था की मुश्किलें सरकार के लिए गंभीर चिंता का सबब बन चुकी हैं। इससे बाहर निकलने के लिए हरियाणा सरकार के अंदर बेचैनी है। खट्टर सरकार का कहना है कि इस संकट में हमें जिन्दगी भी बचानी है और व्यापार को भी बढ़ाना है, इसलिए लॉकडाउन में ढील के साथ-साथ सख्त कानून बनाने की भी आवश्यकता है। जिस प्रकार से हेलमेट पहनना अनिवार्य है, उसी प्रकार मास्क पहनने के लिए कानून बनाया जाना चाहिए।

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने इस बात की तस्‍दीक करते हुए कहा कि हरियाणा में कोरोना से संबंधित 70 प्रतिशत से अधिक मामले दिल्ली से लगते चार जिलों से हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति के पास दिल्ली से हरियाणा में प्रवेश करने के लिए कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट होना अनिवार्य होगी, जिसके बिना राज्‍य में एंट्री की इजाजत नहीं होगी।

इस बीच, हरियाणा में लॉकडाउन के चौथे चरण की शुरुआत से पहले रविवार को 23 नए मरीजों के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 910 पर पहुंच गया। रविवार को राज्‍य में कोरोना से 14वीं मौत भी हुई। फरीदाबाद में मरने वाला संक्रमित शुगर का रोगी था। अभी तक पानीपत में 3, अंबाला में 2, सोनीपत, करनाल और रोहतक में 1-1 मरीज की मौत हो चुकी है। वहीं राज्‍य में ठीक होने वालों का आंकड़ा 562 पर पहुंच चुका है।

रविवार को मिले नए मरीजों में गुरुग्राम में 11, रोहतक में 4, फरीदाबाद 3, पानीपत 2, करनाल, सिरसा व महेंद्रगढ़ में 1-1 है। दिल्ली से सटे झज्जर व सोनीपत में पिछले तकरीबन 24 घंटों में कोई नया केस नहीं आया है। झज्जर में 25, गुरुग्राम में 14, जींद में 5, पंचकूला में 3 व पलवल में एक मरीज ठीक होकर घर लौटा।


प्रदेश में कोरोना संदिग्धों के सैंपल लेने की संख्या बढ़कर 78029 पर पहुंच गई है, जिसमें से 72494 की रिपोर्ट निगेटिव आई है और 4625 की रिपोर्ट का इंतजार है। राज्‍य में अभी सबसे ज्यादा मरीज गुरुग्राम में 204 हैं, जबकि फरीदाबाद में 147, सोनीपत में 134, झज्जर में 90, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 39, पानीपत में 38, पंचकूला में 25, जींद में 20, करनाल में 18, रोहतक में 12, रेवाड़ी में 9, सिरसा, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, महेंद्रगढ़ में 7, भिवानी में 6, कैथल में 5, हिसार व चरखी-दादरी में 4-4, भिवानी में 3 संक्रमित मरीज हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia