महंगाई की मार से अभी निजात नहीं, खुदरा दर के बाद थोक महंगाई दर बढ़कर हुई 4.43 फीसदी

मई में थोक महंगाई दर 3.18 फीसदी से बढ़कर 4.43 फीसदी हुई

खुदरा महंगाई दर में बढ़ोतरी के बाद अब थोक महंगाई दर में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक मई में थोक महंगाई दर 4.43 फीसदी पर पहुंच गई है। इससे पहले अप्रैल में यह 3.18 फीसदी पर थी।

खुदरा महंगाई दर के बाद अब थोक महंगाई दर भी बढ़ गई है। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, मई के महीने में थोक महंगाई दर 3.18 फीसदी से बढ़कर 4.43 फीसदी पर पहुंच गई है। इससे पहले सीएसओ ने खुदरा महंगाई दर के आंकड़े जारी किए थे। उसके मुताबिक मई में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) 4.87 फीसदी रहा था, जोकि साल 2017 के मई की तुलना में दोगुना था। पिछले साल इसी महीने में सीपीआई की दर 2.18 फीसदी थी, जबकि इस साल अप्रैल में यह 4.58 फीसदी थी।

मई महीने में थोक महंगाई दर के आंकड़े:

  • निर्मित उत्पाद की थोक महंगाई दर 3.11 फीसदी से बढ़कर 3.73 फीसदी रही
  • प्राथमिक चीजों की महंगाई दर 1.41 फीसदी से बढ़कर 3.16 फीसदी रही
  • बिजली और ईंधन की थोक महंगाई दर 7.85 फीसदी से बढ़कर 11.22 फीसदी रही
  • अंडों, मांस और मछली की थोक महंगाई दर -0.2 फीसदी से बढ़कर 0.15 फीसदी रही
  • दालों की थोक महंगाई दर -22.46 फीसदी से बढ़कर -21.13 फीसदी रही
  • सब्जियों की थोक महंगाई दर -0.89 फीसदी से बढ़कर 2.51 फीसदी रही
  • आलू की थोक महंगाई दर 67.94 फीसदी से बढ़कर 81.93 फीसदी रही

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें