पत्रकार मारिया रेसा और दिमित्री मुराटोव को नोबेल शांति पुरस्कार, अभिव्यक्ति की आजादी की रक्षा के प्रयास को सम्मान

इस साल के नोबेल शांति पुरस्कार के लिए मारिया रेसा और दिमित्री मुराटोव को कुल 329 उम्मीदवारों में से चुना गया है। इस साल उम्मीदवारों में जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग, मीडिया अधिकार समूह रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स और वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन भी शामिल थे।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

नोबेल शांति पुरस्कार 2021 की घोषणा कर दी गई है। इस साल यह सम्मान फिलीपिंस की पत्रकार मारिया रेसा और रूस के पत्रकार दिमित्री मुराटोव को दिया गया है। दोनों पत्रकारों को अपने देशों में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की हिफाजत करने के लिए किए गए उनके प्रयासों के लिए यह प्रतिष्ठित सम्मान देने की घोषणा की गई है।

पुरस्कार विजेताओं की घोषणा करते हुए नॉर्वेजियन नोबेल समिति ने कहा कि उसने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा के प्रयासों और खोजी पत्रकारिता के लिए डिजिटल मीडिया कंपनी रैपर की संस्थापक और प्रमुख मारिया रेसा और रूसी दैनिक नोवाया गजेटा के संस्थापक मुराटोव को इस साल के नोबल शांति पुरस्कार के लिए चुना है। इन्हें उन सभी पत्रकारों के प्रतिनिधियों के रूप में चुना गया है, जो इस आदर्श के साथ ऐसी जगह खड़े होते हैं जहां लोकतंत्र और प्रेस की स्वतंत्रता तेजी से प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करती है।


समिति ने कहा कि वह आश्वस्त है कि ये अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और सूचना की स्वतंत्रता एक सूचित जनता को सुनिश्चित करने में मदद करते हैं, जो अधिकार लोकतंत्र के लिए महत्वपूर्ण पूर्वापेक्षाएं हैं और युद्ध और संघर्ष से रक्षा करते हैं। समिति ने आगे कहा कि मारिया रेसा और दिमित्री मुराटोव को नोबेल शांति का पुरस्कार इन मौलिक अधिकारों की रक्षा और बचाव के महत्व को रेखांकित करने के लिए दिया गया है।

बता दें कि कुल 329 उम्मीदवारों में से मारिया रेसा और दिमित्री मुराटोव को नोबेल शांति पुरस्कार 2021 के लिए चुना गया है। इस साल के उम्मीदवारों में जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग, मीडिया अधिकार समूह रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स (आरएसएफ) और वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) भी शामिल थे। नोबेल शांति पुरस्कार जीतने वाले को अब 1.1 मिलियन डॉलर की इनामी राशि दी जाएगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia