अब झारखंड को सुलगाने की साजिश! जमशेदपुर में दो समुदायों में टकराव, धारा 144 लागू, इंटरनेट बंद

माहौल बिगड़ने के बाद प्रशासन ने कदमा क्षेत्र में धारा 144 लगा दिया है। इसके अलावा पुलिस द्वारा माइक से लोगों को अपने घरों में रहने का आग्रह किया जा रहा है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

रामनवमी पर देश के कई राज्यों में हिंसा हुई। अब झारखंड के जमशेदपुर से भी हिंसा में भी दो समहूों में झड़प हुई है। यहां के कदमा थाना क्षेत्र अंतर्गत शास्त्रीनगर इलाके में धार्मिक ध्वज के अपमान की घटना के बाद रविवार की रात दो समुदायों के लोग आमने-सामने हो गए। उपद्रवियों ने आगजनी, पत्थरबाजी और फायरिंग की। फिलहाल हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में हैं। अब तक 60 लोगों को हिरासत में लिया गया है। तनाव को देखते हुए इलाके में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। कदमा के शास्त्रीनगर ब्लॉक-3 में पीपलधारी जटाधारी मंदिर से कुछ ही दूरी पर रामनवमी के दिन स्ट्रीट लाइट पर महावीरी झंडा बांधा गया था। इसी बीच बीते शनिवार को कुछ शरारती लोगों ने ध्वज की रस्सी पर प्रतिबंधित मांस लटका दिया। इसपर लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया था। कार्रवाई के लिए 24 घंटे का समय पुलिस को दिया गया था।

इसी मामले को लेकर रविवार शाम छह बजे मंदिर कमेटी के लोग घटना को लेकर बैठक के लिए जुट रहे थे। आरोप है कि इसी दौरान 100 से अधिक संख्या में लोग पहुंच गए, जिनमें अधिकांश ने चेहरा ढंक रखा था। उन्होंने तोड़फोड़ और पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद दोनों ओर से जोरदार पत्थरबाजी हुई। इस दौरान झोपड़ीनुमा आधा दर्जन दुकानों और दो दोपहिया वाहनों में आग लगा दी गई।


उपद्रव को शांत कराने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। दो घंटे तक शास्त्रीनगर के ब्लॉक संख्या-2 में उपद्रव मचाने वालों का कब्जा रहा। इस दौरान उपद्रवियों की पत्थरबाजी से सड़क ईंट और पत्थर से पट गए। उपद्रवियों पर काबू में करने के लिए रैफ को उतारा गया। रैफ ने उपद्रवियों के खिलाफ छह राउंड आंसू गैस के गोले दागे। रैफ ने भीड़ को तितर-बितर कर दिया। अब क्षेत्र में स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है। क्षेत्र की सारी दुकानें बंद हो गई।

माहौल बिगड़ने के बाद प्रशासन ने कदमा क्षेत्र में धारा 144 लगा दिया है। इसके अलावा पुलिस द्वारा माइक से लोगों को अपने घरों में रहने का आग्रह किया जा रहा है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;