सरकार की गलती सुधारने का लॉकडाउन ही एकमात्र उपाय, राहुल गांधी ने कोरोना संकट पर फिर सुझाया रास्ता

देश में भयावह हो चुके कोरोना संकट के लिए मोदी सरकार पर हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कई निर्दोष लोग कोरोना संक्रमण के कारण जिंदगी की लड़ाई हार रहे हैं। ऐसे में कमजोर वर्ग के लोगों को न्याय योजना से संरक्षण दिया जाए और तत्काल पूर्ण लॉकडाउन लगाया जाए।

फाइल फोटोः सोशल मीडिया
फाइल फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को एक बार फिर भयावह हो चुके कोरोना संकट के लिए मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि कई निर्दोष लोग कोरोना संक्रमण के कारण जिंदगी की लड़ाई हार रहे हैं। उन्होंने कहा कि महामारी के सर्वनाश को रोकने का अब एक मात्र तरीका पूर्ण लॉकडाउन बचा है। कमजोर वर्गों के लोगों को न्याय योजना से संरक्षण दिया जाए और तत्काल पूर्ण लॉकडाउन लगाया जाए।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, “मैं सिर्फ यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि भारत सरकार की रणनीति के पूर्ण अभाव के कारण लॉकडाउन अब एकमात्र विकल्प है। उन्होंने अनुमति दी, बल्कि, उन्होंने सक्रिय रूप से वायरस को इस चरण तक पहुंचने में मदद की, जहां इसे रोकने का कोई अन्य तरीका नहीं बचा है। भारत के खिलाफ अपराध किया गया है।”

राहुल गांधी ने कहा कि भारत सरकार की निष्क्रियता कई निर्दोष लोगों को मार रही है। उन्होंने मोदी सरकार में कोरोना से लड़ने की रणनीति के अभाव का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार को अब भी यह बात समझ में नहीं आ रही है। कोरोना के प्रसार को रोकने का अब एकमात्र तरीका पूर्ण लॉकडाउन ही बचा है।

केरल के वायनाड से लोकसभा सांसद राहुल गांधी देश में कोरोना महामारी की शुरुआत से इससे निपटने के लिए केंद्र सरकार को लगातार सलाह देते आ रहे हैं। राहुल गांधी लगातार मांग कर रहे हैं कि कोरोना महामारी से लड़ने के लिए सरकार पूरे देश में निःशुल्क टीकाकरण करे। इससे पहले राहुल गांधी ने टीके की कमी को देखते हुए सरकार को विदेशी टीकों को अनुमति देने की सलाह दी थी, जिसके बाद मोदी सरकार ने कई विदेशी टीकों को देश में अनुमति दी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय