राष्ट्रीय युवा दिवस पर एनएसयूआई ने किया प्रदर्शन, बढ़ती बेरोजगारी के खिलाफ जूते पालिश कर जताया विरोध

एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन ने कहा कि सीएमआईई के मुताबिक नवंबर में देश में बेरोजगारों की संख्या 2.75 करोड़ थी, जो दिसंबर में बढ़कर 3.87 करोड़ हो गई, जिससे साफ है कि भारत में प्रति महीना लाखों लोग बेरोजगार हो रहे हैं और इसकी जिम्मेदार मोदी सरकार और उसकी गलत नीतियां हैं।

फोटोः @NSUI
फोटोः @NSUI
user

नवजीवन डेस्क

देश में विकराल होती बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस की छात्र इकाई एनएसयूआई ने आज स्वामी विवेकानंद के जन्मदिवस यानी राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर राजधानी दिल्ली समेत पूरे देश में जूते पालिश कर विरोध-प्रदर्शन किया। एनएसयूआई ने देश में विकराल बनती जा रही बेरोजगारी के लिए मोदी सरकार और उसकी गलत नीतियों को जिम्मेदार ठहराया।

दिल्ली में शास्त्री भवन के सामने एनएसयूआई के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय सचिव विनोद झाकर और प्रदेश अध्यक्ष अक्षय लाकरा के नेतृत्व में जूते पालिश कर विरोध-प्रदर्शन किया। एनएसयूआई ने बीजेपी सरकार को आईना दिखाते हुए कहा कि उनकी गलत नीतियों के कारण आज देश का युवा जूते पालिश करने के लिए मजबूर है।

फोटोः विपिन
फोटोः विपिन

एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन का कहना है कि भारत में आज पिछले 45 वर्षो की सबसे ज्यादा बेरोजगारी है। सीएमआईई के मुताबिक नवंबर में बेरोजगारों की संख्या 2.75 करोड़ थी, जो दिसंबर में बढ़कर 3.87 करोड़ हो गयी है। जिससे पता चलता है कि भारत में प्रति महीना लाखों लोग बेरोजगार हो रहे हैं। और इस सब की जिम्मेदार मोदी सरकार और उसकी गलत नीतियां हैं।

फोटोः विपिन
फोटोः विपिन

एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी का कहना था कि युवाओं की तरक्की ही देश की तरक्की है, लेकिन आज देश का युवा बढ़ती बेरोजगारी के कारण जूते पालिश करने औक पकौड़ा तलने पर मजबूर है। इसलिए आज हमने जूते पालिश करके केंद्र सरकार को बढ़ती बेरोजगारी पर आईना दिखाने का काम किया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next