JEE पेपर लीक के खिलाफ NSUI का शिक्षा मंत्री के घर के बाहर प्रदर्शन, सुप्रीम कोर्ट जज की देखरेख में जांच की मांग

एनएसयूआई अध्यक्ष नीरज कुंदन ने कहा कि सीबीआई द्वारा दर्ज शिकायत में जिनके नाम हैं उनके खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई होनी चाहिए। जेईई जैसी अहम परीक्षा में ऐसी घटना होना आज हर उस छात्र के लिए चिंता का विषय बन गया है, जो प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कर रहा है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

प्रतिष्ठित संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई मेन) के पेपर लीक के खिलाफ आज कांग्रेस की छात्र इकाई एनएसयूआई ने दिल्ली में शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के घर के बाहर जोरदार प्रदर्शन किया। छात्र कार्यकर्ताओ पेपर लीक मामले की सुप्रीम कोर्ट के जज की देखरेख में जल्द से जल्द जांच कराने की मांग की।

जेईई मेन पेपर लीक के खिलाफ आज दिल्ली की सड़कों पर उतरे एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी करते हुए शिक्षा मंत्री के आवास का घेराव करने की कोशिश की। पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर छात्रों को रोकने की कोशिश की। प्रदर्शन के दौरान एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने जब पुलिस बैरिकेडिंग तोड़ने का प्रयास किया, तो उनकी पुलिस के साथ झड़प हो गई। पुलिस ने छात्रों पर काबू पाने के लिए बल का प्रयोग भी किया।


एनएसयूआई अध्यक्ष नीरज कुंदन ने अपने बयान में कहा कि सीबीआई द्वारा दर्ज हुई शिकायत में जिनके नाम हैं उनके खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई होनी चाहिए। जेईई मेन जैसी महत्वपूर्ण परीक्षा में ऐसी घटना होना आज हर उस छात्र के लिए चिंता का विषय बन गया है, जो प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं।

एनएसयूआई अध्यक्ष ने कहा कि नेशनल टेस्टिंग एजेन्सी जो देश में कई महत्वपूर्ण परीक्षाएं करवाने की जि़म्मेदार है आज शक के घेरे में है। केंद्र सरकार की नाक के नीचे ऐसी घटना का होना मोदी कैबिनेट की एक और नाकामी का सबूत है। एनएसयूआई ने दावा किया कि इस पेपर लीक की सीधी सीधी जि़म्मेदार केंद्र सरकार ही है क्योंकि नेशनल टेस्टिंग एजेन्सी हाल ही में नवंबर 2017 में इसी केंद्र सरकार द्वारा स्थापित की गई थी।

एनएसयूआई के अनुसार, यदि इस मामले को जल्द नहीं सुलझाया गया और आरोपियों को सजा नहीं दी गयी तो यह छात्र वर्ग में असंतोष की भावना पैदा करेगा। वहीं पेपर लीक की इस घटना के बाद नेशनल टेस्टिंग एजेन्सी द्वारा करवाई गई बाकी परीक्षाएं भी शक के घेरे में हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia