कोरोना के बढ़ते मामलों पर बिहार के सीएम नीतीश बोले- अभी उतनी खराब स्थिति नहीं, आकलन कर लेंगे निर्णय

बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण मामलों के बीच शुक्रवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अभी हमारे यहां उतनी खराब स्थिति नहीं है। उन्होंने कहा कि अभी आकलन करेंगे, उसके बाद फिर कोई निर्णय लिया जाएगा।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण मामलों के बीच शुक्रवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अभी हमारे यहां उतनी खराब स्थिति नहीं है। उन्होंने कहा कि अभी आकलन करेंगे, उसके बाद फिर कोई निर्णय लिया जाएगा।

इस बीच, उन्होंने चलाए जा रहे 'समाज सुधार अभियान' यात्रा पर विपक्ष द्वारा सवाल उठाए जाने पर कहा कि कौन क्या बोलता है, उस पर हम नोटिस नहीं लेते। मुख्यमंत्री शुक्रवार को पटना में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि अभी कोरोना से हमारे यहां उतनी खराब स्थिति नहीं है।

पत्रकारों ने जब कोरोना के बढ़ते मामले और स्कूल के खुले रहने पर सवाल किया तब मुख्यमंत्री ने कहा, हमारे यहां अभी इतनी ज्यादा खराब स्थिति नहीं है। शुक्रवार को भी हमलोग बैठ रहे हैं और स्थिति का आकलन करेंगे। कुछ दिनों के अंदर सारी चीजों का आकलन करेंगे, इसके बाद आगे का निर्णय लेंगे।

उन्होंने कहा कि ओमिक्रॉन की जांच के लिए अभी यहां कोई व्यवस्था नहीं है। सैंपल बाहर भेजे जा रहे हैं, जिसमें समय भी लगता है। उन्होंने कहा कि जांच का इंतजाम यहां किया जाए, इस पर भी हमलोग आज बातचीत करेंगे।


उल्लेखनीय है कि गुरुवार को राज्य की राजधानी पटना में कोरोना वेरिएंट ओमिक्रॉन का पहला मरीज मिला है। बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या में भी वृद्धि देखी जा रही है। राज्य में गुरुवार को 132 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई थी, जबकि इससे पहले बुधवार को 77 कोरोना संक्रमित सामने आए थे।

गुरुवार को मिले संक्रमितों में सबसे अधिक पटना में 60 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई, जबकि गया में 46 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई थी। राज्य में कोरोना के 333 सक्रिय मरीज हैं।

इधर, समाज सुधार अभियान को लेकर विपक्ष के सवाल उठाए जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने समाज के उत्थान के लिए काम किया, महिलाओं के लिए काम किया है। आज हम उनके बीच में बैठते हैं, कहते हैं, सुनते हैं। उसमें पुरुष भी रहते हैं। हमलोग एक-एक चीज पर काम कर रहे हैं।

उन्होंने मीडिया वालों से ही इस अभियान के फायदे का आकलन करने को कहा। उन्होंने कहा कि कौन क्या बोलता उसपर हमको कोई नोटिस नहीं लेना है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia