हेट स्पीच और सांप्रदायिक हिंसा को लेकर चिंतित विपक्ष, सोनिया, पवार, ममता, स्टालिन समेत संयुक्त विपक्ष की साझा अपील

देश में बढ़ रहे हेट स्पीच और सांप्रदायिक हिंसा के मामलों को लेकर विपक्ष ने गहरी चिंता जताई है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार और तृणमूल अध्यक्ष ममता बनर्जी समेत संयुक्त विपक्ष ने साझा बयान जारी कर देश से शांति बनाए रखने की अपील की है। पढ़िए विपक्ष का पूरा बयान-

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हम सभी विपक्ष के नेता एक साथ मिलकर देश के नाम एक अपील जारी कर रहे हैं।

सत्तारूढ़ ताकतों द्वारा समाज का ध्रुवीकरण करने के लिए जिस तरह से जानबूझकर खानपान, पोशाक, आस्था, त्योहारों और भाषा से संबंधित मुद्दों का इस्तेमाल किया जा रहा है, उससे हम बेहद आक्रोशित हैं।

देश में दिनोंदिन बढ़ती हेट स्पीच के मामलों को लेकर हम बेहद चिंतित हैं क्योंकि ऐसा करने वालों को सरकारी संरक्षण प्राप्त है और इन लोगों को खिलाफ को सार्थक कार्रवाई नहीं की जा रही है।

हम देश के कई राज्यों में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा की कड़ी निंदा करते हैं। हम इस बात को लेकर गहन चिंतित हैं, क्योंकि रिपोर्टों से संकेत मिलता है कि जिन इलाकों में ये घटनाएं हुई हैं, उनके घटित होने का तरीका एक दूसरे मिलता-जुलता है। रिपोर्टों से सामने आया है कि धार्मिक जुलूसों में शस्त्रों का प्रदर्शन किया जाता है और सांप्रदायिक हिंसा फैलाने के लिए आक्रामक तरीके से भड़काऊ भाषण दिए जाते हैं।

जिस तरह से सोशल मीडिया और ऑडियो-विजुअल प्लेटफॉर्म का सरकारी संरक्षण में नफरत और उन्माद फैलाने के लिए दुरुपयोग किया जा रहा है, उससे हम बेहद दुखी हैं।

हम इस सारे मामलों में प्रधानमंत्री की चुप्पी पर हैरान हैं, जो कट्टरता फैलाने वाले ऐसे लोगों के बयानों और शब्दों और उनके कृत्यों पर अभी तक कुछ भी नहीं बोले हैं जो हमारे समाज को उकसाते और भड़काते हैं। यह चुप्पी इस तथ्य का स्पष्ट प्रमाण है कि इस तरह की निजी सशस्त्र भीड़ को सरकारी संरक्षण हासिल है।

हम सदियों से भारत को परिभाषित और समृद्ध करने वाले सामाजिक सद्भाव के बंधन को मजबूत करने के लिए मिलकर काम करने के अपने सामूहिक संकल्प को दोहराते हैं।

हम उन जहरीली विचारधाराओं का मुकाबला करने और उनका सामना करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हैं जो हमारे समाज में विभाजन की जड़ें जमाने का प्रयास कर रही हैं।

हम अपने दृढ़ विश्वास को दोहराते हैं कि हमारा देश तभी समृद्ध होगा जब वह अपनी कई विविधताओं का सम्मान, समायोजन और जश्न मनाएगा।

हम सभी वर्गों से शांति बनाए रखने और सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को तेज करने की इच्छा रखने वालों के भयावह उद्देश्य को विफल करने की अपील करते हैं। हम देश भर में अपनी सभी पार्टी इकाइयों से शांति और सद्भाव बनाए रखने के लिए स्वतंत्र रूप से और संयुक्त रूप से काम करने का आह्वान करते हैं।

श्रीमती सोनिया गांधी, अध्यक्ष, इंडियन नेशनल कांग्रेस

श्री शरद पवार, अध्यक्ष, एनसीपी

सुश्री ममता बनर्जी, मुख्यमंत्री पश्चिम बंगाल और अध्यक्ष, तृणमूल कांग्रेस

श्री एम के स्टालिन, मुख्यमंत्री तमिलनाडु और अध्यक्ष डीएमके

श्री सीताराम येचुरी, महासचिव, सीपीएम

श्री हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री झारखंड और कार्यकारी अध्यक्ष जेएमएम

डॉ फारुक अब्दुल्लाह, पूर्व सीएम जम्मू और कश्मीर और अध्यक्ष नेशनल कांफ्रेंस

श्री तेजस्वी यादव, नेता प्रतिपक्ष बिहार, (आरजेडी)

श्री डी राजा, महासचिव सीपीआई

श्री देबब्रत बिस्वार, महासचिव, फॉर्वर्ड ब्लॉक

मनोज भट्टाचार्य, महासचिव, आरएसपी

पी के कुन्हलिकुट्टी, महासचिव, आईयूएमएल

दीपांकर भट्टाचार्य, महासचिव, सीपीआई (माले)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia