संसद परिसर में लगातर 4 दिनों से विपक्षी सांसदों का धरना जारी, मणिपुर हिंसा पर संसद में चर्चा कराने की है मांग

कांग्रेस सांसद जेबी माथर ने कहा कि संजय सिंह और टीम इंडिया ने संसद के बाहर धरने का चौथा दिन पूरा कर लिया है। देश और टीम इंडिया की यह मांग है कि प्रधानमंत्री संसद में आकर मणिपुर मुद्दे पर बयान दें और सदन में इस मुद्दे पर विस्तृत चर्चा हो।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

संसद परिसर में विपक्षी सांसदों का लगातार चौथे दिन धरना जारी है। आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह के साथ विपक्षी सांसद धरने पर बैठे हुए हैं। विपक्षी सांसदों की मांग है कि सरकार संदस में मणिपुर हिंसा पर चर्चा कराए। साथ ही पीएम मोदी संसद में आकर इस मुद्दे पर बयान दें। लेकिन अब तक मणिपुर मुद्दे पर संसद में चर्चा नहीं हुई है।

धरने पर बैठी कांग्रेस सांसद जेबी माथर ने कहा, "संजय सिंह और टीम इंडिया ने संसद के बाहर धरने का चौथा दिन पूरा कर लिया है। देश और टीम इंडिया की यह मांग है कि प्रधानमंत्री संसद में आकर मणिपुर मुद्दे पर बयान दें और सदन में इस मुद्दे पर विस्तृत चर्चा हो। 20 जुलाई से हम मांग कर रहे हैं, लेकिन कोई चर्चा नहीं कराई गई और ना ही प्रधानमंत्री ने इस मुद्दे पर संसद में आकर कोई बयान दिया।”

कांग्रेस सांसद ने आगे कहा, “हमने कई बार देखा है कि जिनके हाथों में सत्ता होती है वह अपनी जिम्मेदारी का अहसास करते हुए इस्तीफा दे देते हैं। तीन महीने से मणिपुर जल रहा है, लेकिन देश के प्रधानमंत्री के द्वारा संसद के किसी भी सदन में कोई भी बयान नहीं दिया गया। सरकार संसद में चर्चा की अनुमति नहीं देती। आज हम उम्मीद कर रहे हैं कि लोकसभा में नो-कॉन्फिडेंस मोशन पर चर्चा होगी।"

आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह ने कहा कि आज टीम INDIA के विरोध प्रदर्शन का चौथा दिन है और हम मांग कर रहे हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संसद में आना चाहिए और मणिपुर मुद्दे पर बोलना चाहिए। मणिपुर जल रहा है और लोग राहत शिविरों में रह रहे हैं। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी INDIA की तुलना आतंकवादी समूहों से कर रहे हैं और कह रहे हैं कि वह 2024 में सत्ता में आएंगे। उन्हें कम से कम कुछ संवेदनशीलता दिखानी चाहिए।


मणिपुर में दो महिलाओं के साथ हुई दरिंदगी के मुद्दे पर संसद में लगातार हंगामा जारी है। समोवार को आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने वेल में राज्यसभा सभापति जगदीप धनखड़ की कुर्सी के सामने पहुंचकर विरोध किया था। वह धनखड़ को हाथ दिखाकर कुछ कह रहे थे। उनकी इस एक्टिविटी के बाद उन्हें पूरे मॉनसून सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;