विपक्षी दलों ने की बैठक, कहा- लोकतंत्र और लोगों पर मोदी सरकार के हमले के खिलाफ विपक्ष एकजुट

विपक्ष सरकार पर सदन में लगातार गतिरोध बनाए रखने और चर्चा की मांगों पर ध्यान नहीं देने का आरोप लगाता रहे हैं। विपक्षी पार्टियों ने शुक्रवार को बैठक करके पेगासस जासूसी मुद्दे, कृषि कानूनों और ईंधन की कीमतों में वृद्धि पर चर्चा की अपनी मांग को जारी रखने का फैसला किया।

फोटो: @INCIndia
फोटो: @INCIndia
user

नवजीवन डेस्क

विपक्षी पार्टियों ने शुक्रवार को बैठक करके पेगासस जासूसी मुद्दे, कृषि कानूनों और ईंधन की कीमतों में वृद्धि पर चर्चा की अपनी मांग को जारी रखने का फैसला किया। नेताओं ने जंतर-मंतर पर किसानों के धरने में शामिल होने का भी फैसला किया। किसानों के समर्थन में नेता संसद से जंतर मंतर तक मार्च करेंगे। बैठक राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के कार्यालय में संपन्न हुई थी।

बैठक में आम आदमी पार्टी (आप) सहित 14 दलों ने भाग लिया, जो मंगलवार को आयोजित राहुल गांधी के नाश्ते की बैठक में शामिल नहीं हुई थी। शुक्रवार की बैठक में राहुल गांधी भी शामिल हुए, जो प्रमुख मुद्दों पर विपक्षी एकता की वकालत करते रहे हैं। विपक्ष सरकार पर सदन में लगातार गतिरोध बनाए रखने और चर्चा की मांगों पर ध्यान नहीं देने का आरोप लगाता रहे हैं।


गुरुवार को खड़गे ने सरकार पर मुद्दों का समाधान नहीं करने का आरोप लगाया और यहां तक कि सरकार पर सदन में विधेयकों को आगे बढ़ाने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि विपक्ष पेगासस जासूसी मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार है। चर्चा अभी शुरू करें, हम तैयार हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia