कैलाश मानसरोवर यात्रा: भारी बारिश के चलते डेढ़ हजार से ज्यादा भारतीय तीर्थयात्री नेपाल में फंसे

नेपाल में भारी बारिश की वजह से कैलाश मानसरोवर जा रहे 1575 भारतीय तीर्थयात्री फंसे हुए हैं। इनमें से 525 तीर्थयात्री नेपाल के सिमीकोट, 550 लोग हिलसा और 500 लोग तिब्बत की तरफ रुके हुए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कैलाश मानसरोवर यात्रा पर गए तीर्थ यात्री भारी बारिश की वजह से नेपाल में फंस गए हैं। नेपाल में भारतीय दूतावास ने बताया है कि 525 तीर्थयात्री सिमीकोट, 550 हिल्सा और अन्य 500 तीर्थ यात्री तिब्बती क्षेत्र में फंसे हुए हैं। मिशन ने सभी टूर ऑपरेटर से तिब्बती क्षेत्र में फंसे तीर्थयात्रियों को वापस लाने के लिए कहा है।

कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर गए कर्नाटक के लगभग 290 यात्री फंस हुए हैं। राज्य सरकार ने यह जानकारी दी और हिमालयी राष्ट्र में भारतीय दूतावास को सहायता उपलब्ध कराने लिए कहा है। राज्य आपात अभियान केंद्र, राजस्व विभाग (आपदा प्रबंधन) ने एक ट्वीट में कहा कि कैलाश मानसरोवर यात्रा पर कर्नाटक के लगभग 290 तीर्थयात्री हिमालयी क्षेत्र में भारी बारिश की वजह से नेपाल के सिमीकोट में फंस गये हैं।

दूसरी ओर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने रास्ते फंसे अपने प्रदेश के मानसरोवर तीर्थयात्रियों के बारे में जानकारी ली। चीन-नेपाल सीमा पर करीब 100 तेलुगु तीर्थयात्री हिलसा में फंसे हुए हैं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को सहायता मुहैया कराने को कहा है। इन तीर्थयात्रियों ने मेडिकल सुविधा मांगी। इस मामले को लेकर आंध्र प्रदेश के अधिकारियों ने नेपाल सरकार के अधिकारियों से बातचीत की है।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि दूतावास ने अपने प्रतिनिधियों को नेपालगंज और सिमिकोट भेजा है, जो वहां फंसे सभी तीर्थयात्रियों के संपर्क में हैं। उनको हर संभव मदद दी जा रही है। उनके वहां रहने और खाने-पीने की बेहतर व्यवस्था की जा रही है। इसके अलावा सिमिकोट में चिकित्सा कर्मियों को भेजा गया है, ताकि बुजुर्ग तीर्थयात्रियों को मेडिकल सुविधाएं मिलती सकें और उनके स्वास्थ्य की जांच होती रहे। सभी तीर्थयात्रियों को वहां से निकालने के लिए वैकल्पिक रास्ते पर भी विचार किया जा रहा है। पूरे इलाके में मौसम बेहद खराब है, जिसके चलते तीर्थयात्रियों को निकालना मुश्किल हो रहा है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि हमने नेपाल सरकार से सेना के हेलीकॉप्टरों से फंसे भारतीय नागरिकों को निकालने का अनुरोध किया है।

हॉट लाइन नंबर:

नेपाल में भारतीय दूतावास ने तीर्थयात्रियों और उनके परिवार के लिए हॉट लाइन नंबर जारी किए है। ये नंबर हैः 977-9851107006, +977-9851155007, +977-9851107021, +977-9818832398।

इसके अलावा दूतावास ने अन्य भाषाओं में भी जानकारी के लिए नंबर जारी किए हैं। कन्नड़- +977-9823672371, तेलुगु- +977-9808082292, तमिल- +977-9808500642, मलयालम- +977-9808500644

इससे पहले सोमवार को कैलाश मानसरोवर की यात्रा से लौटने के दौरान एक भारतीय महिला तीर्थयात्री की नेपाल के हुमला जिले के सिमिकोट में मौत हो गई। मृतका की पहचान केरल की लीला महेंद्र नारायण के रूप में हुई है। वह रविवार को सिमिकोट पहुंची थीं। नारायण की मौत उनके शरीर में ऑक्सीजन का स्तर कम होने की वजह से हुई थी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 03 Jul 2018, 11:18 AM
;