ओवैसी का बड़ा दावा! कहा- मुझ पर हुए हमले के पीछे है मास्टरमाइंड, धर्म संसद का नाम लेते हुए खड़े किए गंभीर सवाल

खुद पर हुए हमले के पीछे ओवैसी ने साजिश की ओर इशारा किया। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग से मैं यह कहना चाहूंगा कि इस मामले के पीछे जरूर कोई मास्टरमाइंड है। ओवैसी ने कहा कि अभी कुछ दिन पहले गी प्रयागराज में धर्म संसद में मेरी जान लेने की बात कही गई थी, जो ऑन रिकार्ड है। बयान को भी देखा जाना चाहिए।

फोटो सोशल मीडिया
फोटो सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क


एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने खुद पर हुए हमले को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। इसके साथ ही उन्होंने कई गंभीर सवाल खड़े किए हैं। ओवैसी ने कहा कि मैं कभी भी सुरक्षा नहीं लूंगा। मेरी जान की हिफाजत करना सरकार की जिम्मेदारी है। एआईएमआईएम प्रमुख ने कहा कि मैंने अपना राजनीतिक करियर 1994 से शुरू किया है, अब तक मैंने किसी तरह की कोई सुरक्षा नहीं ली है, मुझे यह पसंद नहीं है। उन्होंने कहा कि जब मेरा वक्त आएगा तब चला जाऊंगा।

खुद पर हुए हमले के पीछे ओवैसी ने किसी बड़ी साजिश की ओर इशारा किया। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग से मैं यह कहना चाहूंगा कि इस मामले के पीछे जरूर कोई मास्टरमाइंड है। ओवैसी ने कहा कि अभी कुछ दिन पहले गी प्रयागराज में धर्म संसद में मेरी जान लेने की बात कही गई थी, जो ऑन रिकार्ड है। बयान को भी देखा जाना चाहिए।

एक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए हुए ओवैसी ने खुद पर हुए हमले के बारे में पूर्ण जानकारी दी। उन्होंने कहा कि लाल और सफेद रंग के जैकेट में दो हमलावर थे। लाल रंग के जैकेट पहने हमलावर के पैर पर गाड़ी का टायर चढ़ा तो सफेद जैकेट पहने हमलावर ने दोनों फॉर्च्यूनर पर दोबारा फायरिंग की।

हमले में इस्तेमाल हथियार को लेकर किए गए दावे पर भी ओवैसी ने सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि मेरे पास हैदराबाद में लाइसेंसी पिस्टल है। हमलावरों ने जिस पिस्टल से फायरिंग की उसकी आवाज सुनकर मैं यह निश्चित तौर पर यह कह सकता हूं कि हमलावरों के पास मौजूद हथियार कंट्रीमेड नहीं, बल्कि नाइन एमएम पिस्टल या कुछ और था। ऐसा दावा किया गया है कि हमले के लिए जिस हथियार का हलावरों ने इस्तेमाल किया था वह कंट्रीमेड थे। इसी दावे को ओवैसि ने खारिज किया है।

वहीं, यूपी एडीजी (एल एंड ओ) प्रशांत कुमार ने कहा, “विस्तृत पूछताछ और CCTV फुटेज से इस घटना में दो लोगों के शामिल होने का पता चला। दोनों व्यक्तियों को पुलिस ने कुछ घंटे के अंदर ही गिरफ़्तार कर लिया, घटना में इस्तेमाल हथियार और एक कार बरामद की गई है।”

उन्होंने कहा, “पूछताछ के हिसाब से ये लड़के सांसद जी के एक धर्म विशेष के प्रति भाषण देने की शैली से आहत थे और उन्होंने बताया है कि उन्होंने इसी वजह से इस घटना को किया। समुचित धाराओं में अभियोग पंजीकृत किया जा चुका है।”


ये है पूरा मामला:

असदुद्दीन ओवैसी ने गुरुवार शाम को दावा किया था कि मेरठ से लौटते समय उनकी गाड़ी पर चार राउंड फायरिंग की गई। उन्होंने कहा कि सबको पता था कि हम मेरठ से दिल्ली के लिए रवाना हो चुके हैं। हर कोई जानता है कि टोल प्लाजा के पास गाड़ी धीमी हो जाती है और इसी दौरान हमलावर ने निशाना बनाते हुए गोलीबारी की। जब हमलावरों ने गोलीबारी की तो हमारे ड्राइवर ने समझदारी दिखाई और तुरंत गाड़ी आगे बढ़ा ली।

दोनों आरोपी पुलिस की गिरफ्तार में हैं। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया तो दूसरे ने गाजियाबाद थाने में खुद सरेंडर कर दिया। हापुड़ के एसपी दीपक भुकर ने बताया कि एक व्यक्ति जो सीसीटीवी के आधार पर चिन्हित हुआ है, तुरंत से हमने उस व्यक्ति को हिरासत में लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। मामले की जांच के लिए पांच टीमें बनाई गई हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 04 Feb 2022, 10:50 AM