पिछले कुछ दिनों से विवादों में रहे लुलु मॉल में पीएसी तैनात, ड्रोन से हो रही निगरानी, अब चेकिंग के बाद ही एंट्री

लुलु मॉल की सुरक्षा में पीएसी तैनात कर दी गई है और अराजक तत्वों पर ड्रोन से निगरानी की जा रही है। आधा किलोमीटर पहले पुलिस ने बैरिकेडिंग लगा दी है जहां पर चेकिंग के बाद ही मॉल के भीतर जाने की अनुमति दी जा रही है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पिछले कुछ दिनों से लखनऊ की लुलु मॉल सुर्खियों में है। लुलु मॉल के उद्घाटन के दो दिन बाद मॉल में नमाज पढ़े जाने का वीडियो वायरल हुआ था। जिसके बाद विवाद बढ़ गया। अब सुरक्षा में पीएसी तैनात कर दी गई है और अराजक तत्वों पर ड्रोन से निगरानी की जा रही है। आधा किलोमीटर पहले पुलिस ने बैरिकेडिंग लगा दी है जहां पर चेकिंग के बाद ही मॉल के भीतर जाने की अनुमति दी जा रही है।

बता दें कि शनिवार को दिनभर मॉल के सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद पुलिस निष्कर्ष पर पहुंची थी कि नमाज पढ़ने के नाम पर कुछ लोग जानबूझकर मॉल में आए, नमाज पढ़ी, वीडियो बनाया और चलते बने। सीसीटीवी का सच सामने आने के बाद डीसीपी गोपाल गोयल को हटा दिया गया था और सुशांत गोल्फ सिटी थाने के इंस्पेक्टर अक्षय प्रताप सिंह को लाइन हाजिर कर दिया गया था। फुटेज में दिखे चेहरों के आधार पर पुलिस अब इनकी तलाश में जुट गई है। दावा है कि जल्द ही इन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।


क्या हुआ था

प्रदेश ही नहीं एशिया का सबसे बड़ा मॉल होने का दावा करने वाले लुलु मॉल का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 10 जुलाई को किया। मॉल में उमड़ी अप्रत्याशित भीड़ के कारण यह खूब चर्चा में रहा। इसके ठीक दो दिन बाद मॉल में आठ युवक पहुंचे। वहां नमाज पढ़ी और इसका वीडियो 13 जुलाई को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। फुटेज से साफ हो रहा था कि नमाज मॉल की दूसरी मंजिल पर पढ़ी गई थी। वीडियो वायरल होने के बाद हिंदू संगठनों ने हंगामा शुरू कर दिया। पुलिस पूरी तरह सक्रिय होती कि अगले ही दिन फिर एक वीडियो वायरल हो गया। इसी के बाद मॉल के जनसंपर्क अधिकारी ने सुशांत गोल्फ सिटी थाने में केस दर्ज कराया था।

इस मामले की जांच के दौरान पुलिस के हाथ जो सीसीटीव फुटेज मिले थे, उससे पुलिस का कहना था कि फुटेज में साफ दिख रहा है कि सभी युवक एक साथ मुख्य द्वार से प्रवेश कर रहे हैं। इसके बाद सुरक्षा कर्मियों से बचते-बचाते सभी साथ-साथ पहले भूतल, फिर प्रथम तल और वहां भी रोके जाने के बाद द्वितीय तल पर गए। एक भी युवक किसी शोरूम में नहीं गया। न ही परिसर में घूमने का प्रयास किया। मॉल में जहां फोटो खींचने-खिंचाने की होड़ लगी थी, इनमें से किसी ने न इधर-उधर देखा न कहीं घूमे, बस नमाज पढ़ने की जुगत तलाशते दिखे और मौका मिलते ही बैठ गए। नमाज पढ़ने के दौरान वीडियो बनाया और इसके बाद बाहर निकल गए। कोई अंदर नहीं रुका। इनमें से कई युवकों के पास तो नमाज पढ़ने के वास्ते बैठने के लिए कोई कपड़ा भी नहीं दिख रहा।

इसे भी पढ़ें: लखनऊ: लुलु मॉल में साजिशन पढ़ी गई थी नमाज, CCTV से खुलासा, हटाए गए DCP, थमीं नहीं घटनाएं, अब दरगाह खम्मन पीर निशाने पर

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;