पाक सुप्रीम कोर्ट में इमरान खान क्लीन बोल्ड, संसद फिर से बहाल, 9 अप्रैल को होगी अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग

पाक सुप्रीम कोर्ट ने इमरान खान को क्लीन बोल्ड कर दिया है। सभी पक्षों की बहस सुनने के बाद कोर्ट ने डिप्टी स्पीकर के फैसले को असंवैधानिक करार दिया है। साथ ही संसद को फिर से बहाल कर 9 अप्रैल को अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराने का आदेश दिया है।

Getty Images
Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री इमरान खान को क्लीन बोल्ड कर दिया है। कई दिनों की सुनवाई और सभी पक्षों की बहस सुनने के बाद कोर्ट ने डिप्टी स्पीकर के फैसले को असंवैधानिक करार दिया है। साथ ही संसद को भंग करने भी गैरकानूनू बताते हुए संसद को फिर से बहाल कर 9 अप्रैल को अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराने का आदेश दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने पाक संसद यानी नेशनल असेंबली की तरफ से तीन अप्रैल को डिप्टी स्पीकर की तरफ से अविश्वास प्रस्ताव रद्द किए जाने के फैसले को असंवैधानिक बताया और कहा कि "प्रधानमंत्री इमरान खान द्वार राष्ट्रपति से संसद भंग करने की सिफारिश करना भी पूरी तरह गैरकानूनी था।" कोर्ट के फैसले के बाद राष्ट्रपति द्वारा संसद भंग करने का फैसला भी रद्द हो गया है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि संसद को बहाल कर दिया गया है और अब इमरान खान को अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना होगा। कोर्ट ने इसके लिए 9 अप्रैल सुबह 10 बजे की तारीख भी मुकर्रर कर दी है।

Getty Images
Getty Images

बताते चलें कि विपक्ष ने पाकिस्तानी संसद के डिप्टी स्पीकर के उस आदेश के खिलाफ याचिका दायर की थी जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार के खिलाफ पेश अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर दिया था। साथ ही संसद की कार्यवाही को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया था। इसके फौरन बाद इमरान खान ने राष्ट्रपति से संसद भंग करने की सिफारिश की थी जिसे राष्ट्रपति ने मानते हुए संसद को भंग कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले का स्वत: संज्ञान भी लिया था और उसी दिन मामले की सुनवाई की।

तीन दिनों की सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था जिसके बाद इमरान खान ने अपनी पार्टी की कानूनी टीम के साथ बैठक के बाद का बयान दिया था कि उनकी पार्टी पीटीआई - पाकिस्तान तहरीके इंसाफ अदालत के फैसले को मानेगा।


मामले की सुनवाई के दौरान सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने इमरान खान को फटकार लगाते हुए कहा था कि 'मौजूदा संकट में आपने 90 दिनों के लिए देश को बेसहारा छोड़ दिया।' गौरतलब है कि इमरान खान ने विपक्ष पर आरोप लगाया था कि उनकी सरकार गिराने के लिए विदेशी साजिश रची गई है और विपक्षी नेताओं ने इसके लिए करोड़ रुपए लिए हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को सुनवाई को दौरान पाकिस्तान की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक का पूरा ब्योरा तलब किया, जिसमें पीटीआई नीत सरकार को सत्ता से बाहर करने के लिए विदेशी साजिश के सुबूत पर चर्चा हुई थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia