पाकिस्तान ने UNGA में अलापा कश्मीर राग, बौखलाहट में बोले इमरान- कर्फ्यू हटते ही होगा कश्मीर में खून-खराबा

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में भी कश्मीर का राग अलापा है। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने बौखलाहट में यहां तक कह दिया कि कश्मीर से जब कर्फ्यू हटेगा तो वहां खून-खराबा होगा। उन्होंने भारत-पाक के बीच संवादहीनता के लिए पीएम मोदी तक को जिम्मेदार ठहराया।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण में कश्मीर, मुसलमान, इस्लाम और भारत-पाक रिश्तों का ही बखान किया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी ने अपने चुनाव प्रचार के दौरान पाकिस्तान के खिलाफ बयानबाजी की थी।

कश्मीर का जिक्र करते हुए इमरान खान ने कहा कि कश्मीर में मुसलमानों के साथ नाइंसाफी हो रही है। उन्होंने कहा कि इसी वजह से वहां के लोग हथियार उठा रहे हैं। इमरान खान ने कहा कि युवाओं का हथियार उठाना इस्लाम के लिए नहीं बल्कि नाइंसाफी के खिलाफ हैं।

इमरान खान ने कहा कि पूरी दुनिया में इस्लामोफोबिया कि बात होती है। उन्होंने कहा कि दुनिया भर में 1.3 अरब मुसलमान हैं, दुनिया के हर महाद्वीप में मुसलमान रहते हैं। इस्लामोफोबिया की बात और चर्चा 9/11 के बाद से बढ़ी है और यह खतरनाक है, इससे विभाजन पैदा हो रहा है। इमरान खान ने कहा कि हालत यह है कि मुसलमान महिलाओं का हिजाब पहनना भी हथियार की तरह देखा जाने लगा है, क्योंकि कुछ पश्चिमी नेताओं ने आतंकवाद को इस्लाम से जोड़ दिया है।

पाकिस्तानी पीएम ने इस्लाम की व्याख्या भी की। उन्होंने कहा कि कट्टरपंथी इस्लाम नाम की कोई चीज नहीं है, और इस्लाम केवल एक है जो पैगंबर का इस्लाम है। उन्होंने कहा कि कट्टरपंथ का इस्लाम से कुछ लेनादेना नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारे नेता दुनिया को इस्लाम का असली अर्थ समझाने में नाकाम रहे हैं। लेकिन यह समझना होगा कि सभी धर्मों का आधार करुणा और न्याय है।

इमरान खान ने कहा कि कोई भी तमिल टाइगर्स और जापानी कामिकेज़ के आत्मघाती हमलों को कट्टरपंथ नहीं कहता, उसे समझने को कोशिश नहीं करता। कोई इसके लिए धर्म को दोष नहीं गेता।

इमरान खान ने भारत-पाक रिश्तों कड़वाहट के लिए प्रधानमंत्री मोदी और भारत के रवैये के जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि “क्रिकेट की वजह से भारत में मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं। मुझे हमेशा भारत जाना पसंद था। इसलिए मेरा पहला कदम मोदी तक पहुंचना था। मैंने कहा कि हमारे मतभेदों को दूर करते हैं। अपने अतीत को पीछे छोड़कर हमें हमारे लोगों के लिए काम करना चाहिए, क्योंकि हमारे पास समान समस्याएं हैं, गरीबी और जलवायु परिवर्तन। सबसे ज्यादा संख्या में लोग उपमहाद्वीप में रहते हैं।“ उन्होंने कहा कि इसके जवाब में भारत की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई। उन्होंने आगे कहा कि ‘हमने सोचा कि हमें भारतीय चुनावों तक इंतजार करना चाहिए क्योंकि बीजेपी एक राष्ट्रवादी पार्टी है। इस बीच, भारतीय बलों की वजह से कट्टरपंथी बने एक कश्मीरी लड़के ने खुद को भारतीय सुरक्षाबल के काफिले में जाकर उड़ा लिया। इसके तुरंत बाद भारत ने पाकिस्तान को दोषी ठहरा दिया।“

इमरान खान ने बलुचिस्तान का मुद्दा उठाते हुए कहा कि, “हमारे पास बलूचिस्तान प्रांत में कुछ आतंकवादी हमलों में भारतीय हस्तक्षेप के सबूत थे, हमने उनके जासूस कुलभूषण यादव को भी पकड़ लिया, जो अपराधों में शामिल था।“ इमरान खान विंग कमांडर अभिनंदन का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि, “पुलवामा हमले में किसी भी पाकिस्तानी की कथित संलिप्तता के सबूत साझा करने के बजाय उन्होंने हमें बम से उड़ाने की कोशिश की। हमने जवाबी कार्रवाई की, हमने उनके पायलट को पकड़ लिया, लेकिन अगले दिन उसे लौटा दिया क्योंकि हम नहीं चाहते थे कि बात आगे बढ़े।“

Published: 27 Sep 2019, 10:05 PM
लोकप्रिय