बौखलाए पाकिस्तान ने लद्दाख के पास तैनात किए लड़ाकू विमान, जानिए क्या बोले थल सेनाध्यक्ष बिपिन रावत

धारा 370 पर सरकार के फैसले के बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में तल्खी बरकरार है। खबर है कि पाकिस्तानी सेना एलओसी की ओर बढ़ रही है और लद्दाख के सामने अपने एयरबेस में लड़ाकू विमानों की तैनाती कर रही है। वहीं भारतीय सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि हम अलर्ट हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद से ही पाकिस्तान में बौखालहट जारी है। पड़ोसी देश पाकिस्तान एक के बाद एक भारत के खिलाफ फैसला ले रहा है। अब पाकिस्तान ने लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर अपनी सैन्य गतिविधियां तेज कर दी हैं। इसके साथ ही लद्दाख के पास अपने एयरबेस पर लड़ाकू विमानों को तैनात कर दिया है। इस पर थलसेना अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा है कि वह हर तरह की परिस्थितियों के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

थलसेनाध्यक्ष बिपिन रावत ने कहा, “अगर वे (पाकिस्तान) एलओसी को सक्रिय करना चाहते हैं तो उन पर निर्भर करता है। एहतियात के तौर पर हर कोई तैनाती करता है, हमें इसके बारे में बहुत ज्यादा चिंतित नहीं होना चाहिए। जहां तक सेना और अन्य सेवाओं का सवाल है तो हमें हमेशा तैयार रहना होगा।”

मौजूदा हालात पर उन्होंने कहा, “भारत और पाकिस्तान के रिश्ते 70-80 के दशक की तरह ही है। हम उनसे पहले भी बंदूक के बगैर मिलते थे और आशा करता हूं कि उनसे बिना बंदूक के मिलते रहेंगे। कश्मीरी लोगों के साथ हमारी बातचीत पहले की तरह सामान्य है, इसमें किसी तरह का कोई बदलाव नहीं हुआ है।”

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने हाल ही में संसद के संयुक्त सत्र में कहा था कि भारत में अगर पुलवामा जैसा हमला होता है तो इसके लिए इस्लामाबाद जिम्मेदार नहीं होगा। इमरान के बयान में प्रत्यक्ष तौर पर जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा तथा पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के हैंडलर्स को प्रशिक्षण शिविर और लॉन्च पैड दोबारा सक्रिय करने के लिए खुली छूट दी गई है।

Published: 13 Aug 2019, 5:59 PM
लोकप्रिय