समझौता एक्सप्रेस लौटी अटारी बॉर्डर, पाकिस्तान ने इंजन और ड्राइवर भेजने से किया था इनकार

जम्मू-कश्मीर पर भारत सरकार के फैसले के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। एयरस्पेस के बाद पाकिस्तान ने अब समझौता एक्सप्रेस को भी रोक दी है। पाकिस्तान ने अपनी तरफ से समझौता एक्सप्रेस को न चलाने का ऐलान किया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर पर भारत सरकार के फैसले के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। एयरस्पेस के बाद पाकिस्तान ने अब समझौता एक्सप्रेस को भी रोक दी है। अब पाकिस्तान ने दोनों देशों के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस में अड़ंगा लगा दिया और उसे बीच में ही रोकते हुए कहा कि वह अपना ड्राइवर नहीं भेजेगा। भारत ने आनन-फानन में ट्रेन को लाने के लिए अपना स्टॉफ भेजा।भारतीय इंजन के साथ ट्रेन अटारी स्टेशन पर आ चुकी है।

वहीं पाकिस्तान ने अपनी तरफ से समझौता एक्सप्रेस को न चलाने का ऐलान किया है। पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद अहमद ने कहा कि रेल मंत्रालय ने समझौता एक्सप्रेस को हमेशा के लिए बंद करने का फैसला किया है। रेल मंत्री ने कहा कि जो लोग पहले से टिकट खरीद चुके हैं वो लाहौर डीएस ऑफिस से पैसा वापस ले सकते हैं।

पाकिस्तान ने अपने ट्रेन ड्राइवर और गार्ड को समझौता एक्सप्रेस के साथ भेजने से मना कर दिया है। इस मामले पर अटारी अंतरराष्ट्रीय रेलवे स्टेशन के सुपरिंटेंडेंट अरविंद कुमार गुप्ता ने बताया कि आज पाकिस्तान से समझौता एक्सप्रेस को भारत आना था, लेकिन इस दौरान पाकिस्तान से संदेश आया कि भारतीय रेल अपने ड्राइवर और क्रू मेंबर को भेजकर समझौता एक्सप्रेस को ले जाए। उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी रेलवे ने सुरक्षा कारणों से यह फैसला लिया है। अब भारतीय रेल ड्राइवर और गार्ड को जिनके पास वीजा है, उन्हें समझौता एक्सप्रेस को लेने भेजा जाएगा।

पाकिस्तान ने अपने हवाईक्षेत्र के एक कॉरिडोर को बंद कर दिया है। इस कॉरिडोर के बंद होने से विदेशी उड़ानों को 12 मिनट का अतिरिक्त समय लगेगा। एयर इंडिया इंडिया के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान से होकर 11 रूट जाते हैं, उनमें से इस कॉरिडोर के तहत आने वाले तीन रुट बंद कर दिए गए हैं। एयर इंडिया अधिकारी ने बताया कि कॉरिडोर बंद होने से उड़ानों का मार्ग परिवर्तित किया जाएगा।

प्रमुख विमानन कंपनी को इससे पहले भी पाकिस्तान द्वारा अपना वायुमार्ग बंद करने के कारण 430 करोड़ का बड़ा नुकसान हुआ था। भारतीय वायु सेना द्वारा फरवरी में बालाकोट में एयर स्ट्राइक करने के बाद पाकिस्तान ने यह कदम उठाया था।

Published: 8 Aug 2019, 3:34 PM
लोकप्रिय