पाकिस्तान की आतंकवाद पर यूरोपियन यूनियन में फजीहत, पोलैंड ने कहा- चांद से नहीं आते हैं आतंकी, भारत का दिया साथ

कश्मीर मुद्दे पाकिस्तान के सपने को एक बार फिर झटका लगा है। बुधवार को यूरोपीय यूनियन की संसद ने इस मुद्दे पर भारत का साथ दिया। खबरों के मुताबिक, संसद के ज्यादातर सदस्य भारत के साथ खड़े दिखाई दिए और कहा कि यह आतंकी चांद से नहीं आते हैं। यह पड़ोसी देश से आ रहे हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर दुनियाभर से मुंह की खाने के बाद अब पाकिस्तान को यूरोपियन यूनियन (ईयू) से करारा झटका लगा है। पोलैंड के यूरोपीयन कंजर्वेटिव्‍स एंड रिफार्मिस्‍ट ग्रुप के रिसजार्ड ने कहा, “दुनिया में भारत सबसे बड़ा लोकतंत्र है। हमें भारत के जम्‍मू कश्‍मीर में होने वाले आतंकी घटनाओं की जांच करने की जरूरत है। ये आतंकी चांद पर से नहीं आते। वे पड़ोसी देश से आते हैं। हमें भारत का समर्थन करना चाहिए।”

इटली के यूरोपीयन पीपुल्‍स पार्टी के फुल्‍वियो मार्तुसाइल्‍लो ने कहा, “पाकिस्‍तान ने परमाणु हथियारों के इस्‍तेमाल की धमकी दी है। पाकिस्‍तान ऐसी जगह है जहां आतंकी यूरोप में आतंकी हमलों को अंजाम देने की योजना बनाने में सक्षम हैं।”

बता दें कि राजनीतिक मामलों पर चर्चा के लिए महत्‍वपूर्ण मंच यूरोपीयन यूनियन ने भारत द्वारा जम्‍मू कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 के हटाए जाने व इसके बाद वहां के हालात पर चर्चा की।

गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय मंचों पर पाकिस्तान लगातार इस मुद्दे में किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की मांग कर रहा है लेकिन दुनियाभर में अधिकतर देश पाकिस्तान की नहीं सुन रहे हैं और उसे सीधे भारत से बात करने के लिए कह रहे हैं।

लोकप्रिय