पाकिस्तानी मंत्री का बौखलाहट में बेतुका बयान, कहा- भारत की धमकी की वजह से श्रीलंकाई क्रिकेटर नहीं जा रहे पाक

बेतुके बयानों से भारत के खिलाफ अपनी कुंठा दर्शाने वाले पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी एक बार फिर विवादों में हैं। उन्होंने कहा कि भारत ने श्रीलंकाई क्रिकेटरों को धमकी दी है कि अगर वो पाकिस्तान दौरे पर जाएंगे तो उन्हें आईपीएल में खेलने नहीं दिया जाएगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर को लेकर पाकिस्तान की बौखलाहट जारी है। हालत यह है कि इमरान खान के मंत्री अनाप-शनाप बयान दे रहे हैं। अपने बयानों को लेकर लोगों के निशाने पर आ चुके पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी ने एकबार फिर बेतुका बयान दिया है। फवाद चौधरी ने ट्वीट कर कहा है कि भारत ने श्रीलंकाई क्रिकेटरों को धमकी दी है कि अगर वो पाकिस्तान दौरे पर जाएंगे तो उन्हें आईपीएल में खेलने नहीं दिया जाएगा। उनका कहना है कि इस डर की वजह से श्रीलंकाई क्रिकेटर पाकिस्तान दौरे पर जाने से इनकार कर रहे हैं।

फवाद चौधरी ने ट्वीट करते हुए लिखा, “कमेंटेटर्स से मुझे बताया कि भारत ने श्रीलंकाई खिलाड़ियों को धमकी दी है कि अगर उन्होंने पाकिस्तान दौरे से इनकार नहीं किया तो उन्हें आईपीएल से बाहर कर दिया जाएगा। यह वास्तव में सस्ती रणनीति है। खेल से लेकर अंतरिक्ष तक यह एक ऐसी अंधराष्ट्रीयता है, जिसका हमें विरोध करना चाहिए, निंदा करनी चाहिए। भारतीय खेल प्राधिकरण की ओर से वाकई एक सस्ता कदम।”

बता दें कि पाकिस्तान में आतंकी गतिविधियों और सुरक्षा कारणों को लेकर श्रीलंका क्रिकेट टीम के 10 खिलाड़ियों ने सोमवार को पाक दौरे से नाम वापस ले लिया। श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) के मुताबिक, वनडे टीम के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने, टी-20 कप्तान लसिथ मलिंगा, पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज, निरोशन डिकवेला, कुसल परेरा, धनंजय डिसिल्वा, अकिला धनंजय, सुरंगा लकमल, थिसारा परेरा और दिनेश चंडीमल ने नाम वापस लिया। श्रीलंका को पाक दौरे पर 27 सितंबर से 9 अक्टूबर तक तीन वनडे और तीन टी-20 खेलने हैं।

गौरतलब है कि श्रीलंका की टीम पर पाकिस्तान में 3 मार्च 2009 को हमला हुआ था। श्रीलंकाई क्रिकेट टीम उस वक्त लाहौर में टेस्ट सीरीज का दूसरा टेस्ट खेल रही थी। इस हमले में श्रीलंकाई टीम के कप्तान महेला जयवर्धने, कुमार संगकारा, अजंथा मेंडिस, थिलन समरवीरा, थरंगा पारनविताना और चामिंडा वास घायल हो गए थे। हमले में पाकिस्तान पुलिस के 6 जवान समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी।

लोकप्रिय