देशभर में 'स्क्रब टाइफस' से दहशत, अब तक 15 लोगों की मौत, जानें क्या हैं इसके लक्षण

ये ‘ओरिएटिया सुसुगामुशी’ नाम के एक बैक्टीरिया के कारण होने वाला एक्यूट रोग है। जुओं के आकार का दिखने वाला ये कीट आमतौर पर झाड़ी या नमी वाली जगहों पर पाया जाता है। इसके अलावा ये बैक्टीरिया चूहों, खरगोशों और गिलहरियों के शरीर पर भी मौजूद रहते हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश में बढ़ते ‘स्क्रब टाइफस’ मामलों से लोगों में दहशत है। खबरों के मुताबिक, हिमाचल और ओडिशा में ही इस बीमारी की चपेट में आने से 15 लोगों की मौत हो चुकी है। जब कई राज्यों में इस बीमारी से पीड़ित है। ऐसे में लोगों को जानना जरूरी है कि स्क्रब टाइफस क्या है?

ये ‘ओरिएटिया सुसुगामुशी’ नाम के एक बैक्टीरिया के कारण होने वाला एक्यूट रोग है। जुओं के आकार का दिखने वाला ये कीट आमतौर पर झाड़ी या नमी वाली जगहों पर पाया जाता है। इसके अलावा ये बैक्टीरिया चूहों, खरगोशों और गिलहरियों के शरीर पर भी मौजूद रहते हैं।


ये बैक्टीरिया से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने, कीड़े के मल के संपर्क में आने, बिना टेस्ट किया हुआ खून चढ़ाने या फिर संक्रमित सूई का इस्तेमाल करने से भी शरीर में फैल सकती है।

स्क्रब टाइफस के संपर्क में आने पर पीड़ित को तेज बुखार, तेज सिरदर्द, सूखी खांसी, अधिक कमजोरी, चक्कर और बेहोशी आना, लिवर से जुड़ी परेशानी होना, सांस लेने में तकलीफ होना और मांसपेशियों में तेज दर्द का सामना करना पड़ सकता है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;