कोरोना वायरस से देश में दहशत, केरल में तीसरे मामले की हुई पुष्टि, जानें इस जानलेवा बीमारी के लक्षण और बचाव

केरल में कोरोना वायरस के तीसरे मामले की पुष्टि हुई है। केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा इस मामले की जानकारी देते हुए कहा कि मरीज कासरगोड के कंजांगड़ जिला अस्पताल में भर्ती है। मरीज की हालत स्थिर है। मरीज चीन के वुहान से लौटा था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

चीन में कोरोना वायरस का कहर जारी है। इस वायरस की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 361 हो गई है। वही भारत में कोरोना वायरस की एक और पुष्टी हुई है। तीसरा मामले भी केरल से ही है। केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा इसम मामले की जानकारी देते हुए कहा, “मरीज कासरगोड के कंजांगड़ जिला अस्पताल में भर्ती है। मरीज की हालत स्थिर है। मरीज चीन के वुहान से लौटा था।”

बता दें कि रविवार को केरल में कोरोना वायरस के दूसरे मामले की पुष्टि हुई थी। इससे पहले 30 जनवरी को केरल में पहले कोरोना वायरस के मामले की पुष्टि हुई थी। खबरों के मुताबिक, तीनों मरीज में कोरोना वायरस की पुष्टी चीन से लौटाने के बाद हुई है। दूसरी ओर चीन में फंसे अपने नागरिकों को वहां से निकालने का सिलसिला जारी है। भारत समेत कई देश अपने नागरिकों को निकाल रहे हैं। भारत ने अर इंडिया ने अपनी दूसरी उड़ान में चीन के वुहान शहर से 323 और भारतीयों को बाहर निकाला और विमान रविवार सुबह दिल्ली हवाईअड्डे पर पहुंच गया। यह विमान मालदीव के सात लोगों को भी लेकर आया है। इसके लिए मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने भारत को धन्यवाद दिया था।

क्या है कोरोना वायरस और क्या हैं इसके लक्षण?

कोरोना वायरस एक विषाणुजनित रोग है। जो चीन में काफी फैला हुआ है। धीरे-धीरे ये वायरस दूसरे देशों में भी तेजी से फैल रहा है। बुखार खांसी-जुकाम, गले में खराश होना इस वायस के लक्षण हैं। हालत ज्यादा गंभीर होने पर इंसान को सांस लेने में तकलीफ और न्यूमोनिया होने लगता है।

कैसे करें बचाव?

इस वायरस से डरने की जरूरत नहीं है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, सावधानी और सतर्कता से बचाव आसान है। कोरोना वायरस के लिए कोई खास दवा या वैक्सीन फिलहाल नहीं है। सिर्फ लक्षण और डॉक्टरों की सलाह से इसका इलाज किया जाता है।

लोकप्रिय