कश्मीर में टारगेट किलिंग से दहशत! पलायन करते लोगों को लेकर विपक्षी नेताओं ने मोदी सरकार को घेरा

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने कहा, “1990 में कश्मीरी पंडितों ने कश्मीर से पलायन किया, बीजेपी केन्द्र की सत्ता में थी। 2022 में कश्मीरी पंडित पलायन कर रहे हैं बीजेपी सत्ता में है। मोदी जी फिल्म पर रोने का ड्रामा कर सकते हैं कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा नहीं दे सकते।”

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

घाटी में टारगेट किलिंग के बाद लगातार हालात बिगड़ रहे हैं। आतंकियों द्वारा की जा रही टारगेट किलिंग के खिलाफ आज कश्मीरी पंडितों ने सामूहिक पलायन की बात कही है। बता दें कि बीते 26 दिन में 10 लोगों की हत्या आतंकी कर चुके हैं। वहीं इन घटनाओं पर विपक्षी पार्टी के नेताओं ने मोदी सरकार को घेरा है।

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने कहा, “1990 में कश्मीरी पंडितों ने कश्मीर से पलायन किया, बीजेपी केन्द्र की सत्ता में थी। 2022 में कश्मीरी पंडित पलायन कर रहे हैं बीजेपी सत्ता में है। मोदी जी फिल्म पर रोने का ड्रामा कर सकते हैं कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा नहीं दे सकते।”


बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आयदिन निर्दोष लोगों की हत्यायें हो रही हैं। अभी हाल ही में वहां राजस्थान के निवासी और बैंक मैनेजर की हुई हत्या अति-दुःखद और चिन्तनीय भी। इससे वहां दहशत का वातावरण व्याप्त है। केन्द्र सरकार ऐसे दोषी तत्वों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करे, बीएसपी की यह मांग।

गौरतलब है कि गुरुवार को कुलगाम जिले में एक क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के गैर-स्थानीय प्रबंधक की आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी और फरार हो गए। इसी कुलगाम जिले में 31 मई को आतंकियों ने गैर स्थानीय शिक्षिका रजनी बाला की हत्या कर दी थी। वह जम्मू संभाग के सांबा जिले की रहने वाली थीं। पिछले कुछ दिनों से जम्मू-कश्मीर में गैर स्थानीय लोगों और कश्मीरी पंडितों पर हमले की घटनाओं में लगातार वृद्धि हुई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia