'संसद सुरक्षा चूक को 7 दिन पूरे, UAPA के तहत दर्ज है केस, बावजूद इसके BJP सांसद प्रताप सिम्हा से क्यों नहीं हुई पूछताछ?'

जयराम रमेश ने पूछा, ऐसा क्यों है कि 7 दिनों के बाद भी बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा, जिन्होंने लोकसभा में दो आरोपियों को प्रवेश दिलाने में मदद की, उनसे अभी तक पूछताछ नहीं की गई है?

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

संसद सुरक्षा चूक मामले को लेकर कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने इस मुद्दे पर केंद्र सरकार से अहम सवाल पूछा है। उन्होंने एक्स पर पोस्ट किया, “लोकसभा में हुई बेहद गंभीर सुरक्षा चूक को ठीक एक सप्ताह हो चुका है। उस खतरनाक घटना ने पूरे देश को चौंका दिया। प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और लोकसभा अध्यक्ष का कहना है कि मामले की जांच शुरू हो गई है। ठीक है।”

उन्होंने आगे कहा, “लेकिन ऐसा क्यों है कि 7 दिनों के बाद भी बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा, जिन्होंने लोकसभा में दो आरोपियों को प्रवेश दिलाने में मदद की, उनसे अभी तक पूछताछ नहीं की गई है? यह बहुत ही विचित्र स्थिति है, क्योंकि आरोपियों पर आतंकवाद विरोधी कानून UAPA के तहत आरोप दर्ज किए गए हैं।”


जयराम रमेश ने कहा, “इस बीच, 13 दिसंबर की घटनाओं पर संसद में गृहमंत्री के बयान की सीधी, सरल और पूरी तरह से वैध मांग करने पर INDIA के 142 सांसदों को निलंबित कर दिया गया है।”

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;