9 दिनों से लापता एएन-32 विमान का मलबा मिला, 13 लोग थे सवार

भारतीय वायु सेना ने स्थानीय अधिकारियों को बताया कि विमान का मलबा एमआई 17 विमान ने ढूंढा। विमान का मलबा लिपो से 16 किलोमीटर उत्तर में मिला है और यह इलाका टाटो के उत्तर पूर्व में स्थित है।

फोटो: आईएएनएस
फोटो: आईएएनएस

नवजीवन डेस्क

भारतीय वायुसेना (आईएएफ) ने मंगलवार को कहा कि अरुणाचल प्रदेश में तीन जून को 13 लोगों के साथ लापता हुए एएन-32 विमान के मलबे को देखा गया है। भारतीय वायुसेना ने ट्वीट किया, “लापता एएन-32 के मलबे को आज देखा गया है। खोजे गए विस्तृत क्षेत्र में एमआई-17 हेलीकॉप्टर ने 12,000 फुट की अनुमानित ऊंचाई पर टेटो के उत्तर-पूर्व में लीपो से 16 किलोमीटर उत्तर में मलबे को देखा।”

परिवहन विमान ने तीन जून को असम के जोरहाट एयरबेस से अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम सियांग जिले के मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरी थी। आठ जून को, वायुसेना ने लापता विमान के स्थान का पता या इससे संबंधित जानकारी देने के लिए पांच लाख रुपये इनाम की घोषणा की थी। वायुसेना के लापता एएन-32 विमान का कुछ हिस्सा मिला है। विमान के बाकी हिस्सों की तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। यह विमान 3 जून असम के जोरहाट से उड़ान भरा था और लापता हो गया था। इस विमान में 8 क्रू मेंबर समेत 13 लोग सवार थे।

भारतीय वायु सेना ने स्थानीय अधिकारियों को बताया कि विमान का मलबा एमआई 17 विमान ने ढूंढा। विमान का मलबा लिपो से 16 किलोमीटर उत्तर में मिला है और यह इलाका टाटो के उत्तर पूर्व में स्थित है। बीते बुधवार को वायुसेना ने इस विमान की तलाश के लिए एसयू-30 जेट लड़ाकू विमान, सी130 जे, एमआई17 और एएलएच हेलीकॉप्टरों को लगाया।

तलाशी अभियान असम के जोरहाट से अरुणाचल प्रदेश के मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के बीच वनों में किया जा रहा है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के उपग्रह -काटरेसैट और आरआईसैट भी इलाके की तस्वीरें ले रहे हैं। इसके अलावा, सेना, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस, अरुणाचल पुलिस और स्थानीय समुदाय भी जमीन पर लापता विमान की खोज में लगे हुए हैं।

Published: 11 Jun 2019, 6:00 PM
लोकप्रिय