पटियाला हिंसा: झड़प के बाद पुलिस अफसरों पर गिरी गाज! कई अधिकारियों के हुए तबादले

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि मुख्यमंत्री भगवंत मान के निर्देश पर सरकार ने पुलिस महानिरीक्षक (पटियाला रेंज), वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) और पुलिस अधीक्षक (एसपी) का तबादला कर दिया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

पंजाब के पटियाला के काली माता मंदिर के पास शुक्रवार को शिवसेना और खालिस्तान समर्थकों के बीच तीखी झड़प हुई थी। स्थिति को संभालने लिए पुलिस ने हवाई फायरिंग की थी और 24 घंटे का कर्फ्यू लगा दिया गया था। अब मामले पर बड़ी कार्रवाई करते हुए राज्य सरकार ने पुलिस अधिकारियों का तबादला कर दिया है। साथ ही अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए, सरकार ने शनिवार को पटियाला जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं और एसएमएस सेवाओं को बंद करने का आदेश दिया है।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि मुख्यमंत्री भगवंत मान के निर्देश पर सरकार ने पुलिस महानिरीक्षक (पटियाला रेंज), वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) और पुलिस अधीक्षक (एसपी) का तबादला कर दिया है।

मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि मुखविंदर सिंह चिन्ना को नया महानिरीक्षक नियुक्त किया गया है, जबकि दीपक पारिक और वजीर सिंह को नया एसएसपी और एसपी नियुक्त किया गया है।

प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि निहंगों ने खालिस्तान समर्थक नारे लगाते हुए दरगाह की ओर मार्च किया। पुलिस ने कहा कि निहंगों को रोकने की कोशिश में एक पुलिस अधिकारी घायल हो गया।

शिवसेना के कार्यकारी अध्यक्ष हरीश सिंगला ने आर्य समाज चौक से काली देवी मंदिर तक अलगाववादी विरोधी मार्च का नेतृत्व किया। वे खालिस्तान के खिलाफ नारे लगा रहे थे।

सिंगला ने कहा, 'शिवसेना पंजाब या भारत में कहीं भी खालिस्तान नहीं बनने देगी।

उन्होंने यह भी कहा कि प्रतिबंधित सिख फॉर जस्टिस (एसएफजे) के प्रमुख गुरपतवंत सिंह पन्नू ने 29 अप्रैल को खालिस्तान स्थापना दिवस मनाने का आह्वान किया था। इसके विरोध में हिंदू संगठनों शनिवार को पटियाला में बंद का आयोजन कर रही है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia