पेटीएम केस:  डेटा चोरी नहीं, शेयरों की वापसी के लिए कंपनी मालिक ने फंसाया सोनिया को, परिवार का आरोप

पेटीएम फिरौती मामले में गिरफ्तार सोनिया धवन और उसके पति रुपक जैन के परिवार वालों के अनुसार सोनिया के पास कंपनी के 10 करोड़ के शेयर थे और कंपनी के मालिक अजय शेखर और विजय शेखर चाहते थे कि वह उन शेयर्स को वापस कर दे। इससे इनकार करने पर उसे फंसा दिया गया।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

पेटीएम सीईओ और कंपनी का डेटा चोरी कर उसके एवज में फिरौती मांगने के मामले में नया मोड़ आ गया है। मामले की आरोपी कंपनी की वाइस प्रेसिंडेंट सोनिया धवन के परिवार वालों ने पेटीएम के मालिक विजय शेखर शर्मा और अजय शेखर शर्मा पर संगीन आरोप लगाए हैं। परिवार का आरोप है कि ये रंगदारी का मामला नहीं है बल्कि कारोबारी मामला है। मामले में गिरफ्तार किये गए सोनिया धवन और उनके पति रुपक जैन के परिवार वालों के अनुसार सोनिया के पास कंपनी के 10 करोड़ के शेयर थे और कंपनी के मालिक अजय शेखर और विजय शेखर चाहते थे कि वह उन शेयर्स को वापस कर दे। इससे इनकार करने पर उसे रंगदारी के केस में फंसा दिया गया। मामले के चौथे आरोपी रोहित चोमल, जो कोलकाता में रहता है, को अब तक गिरफ्तार नहीं किये जाने पर सवाल उठाते हुए सोनिया के परिवार ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की है।

एबीपी न्यूज की खबर के अनुसार दोनों के परिवार ने बताया कि सोनिया को लगातार अज्ञात नंबर से फोन पर धमकियां मिल रही थीं और पांच करोड़ रुपये की फिरोती मांगी जा रही थी। परिवार के अनुसार सोनिया को मिल रही धमकी की शिकायत उसके पति रूपक जैन ने 22 सिंतबर को नोएडा के थाना सेक्टर-39 में दर्ज कराई थी, लेकिन उनकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। परिवार का कहना है कि जिस नंबर से उनसे पांच करोड़ की फिरौती मांगी गई, यदि उस कॉलर को पकड़ा जाए तो पूरे मामले की पोल खुल सकती है, लेकिन पुलिस उसे ढूंढ़ने की कोई कोशिश नहीं कर रही है।

सोनिया के खिलाफ लगे सभी आरोपों को निराधार बताते हुए उसकी बहन रूपाली धवन ने मीडिया को बताया कि कंपनी में 70 लाख रुपये सालाना के पैकेज पर काम कर रही सोनिया इस मुकाम तक अपने 10 साल की कड़ी मेहनत की बदौलत पहुंची थी। रूपाली ने बताया कि करीब डेढ़ महीने पहले ही सोनिया को प्रोन्नति देते हुए कंपनी का उपाध्यक्ष बनाया गया था। उन्होंने आरोप लगाया कि कंपनी के मालिक अजय शेखर शर्मा और विजय शेखर शर्मा सोनिया पर कंपनी के 10 करोड़ के शेयर वापस करने का दबाव बना रहे थे और उसके इनकार करने पर उसे झूठे मामले में फंसा दिया गया।

बता दें कि सोमवार को नोएडी पुलिस ने देश की ई वैलेट कंपनी पेटीएम के संस्थापक विजय शेखर शर्मा से कंपनी का डेटा लीक करने की धमकी देकर 20 करोड़ की फिरौती मांगने के मामले का खुलासा किया था। पुलिस ने इस मामले में शर्मा की सेक्रेट्री और कंपनी की वाइस प्रेसिंडेंट सोनिया धवन उसके पति रूपक जैन और कंपनी में काम करने वाले देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया था। जबकि मामले के चौथे आरोपी रोहित चोमल को फरार बताया गया था।

पहले ही इस मामले के खुलासे में इजरायल की जांच एजेंसी मोसाद की भूमिका की बात सामने आने से विवादों में आए इस मामले में परिवार के नये खुलासे ने इसे और संगीन बना दिया है। ताजा खुलासों के बाद शुरुआत में सीधा लग रहा ये मामला और उलझता जा रहा है। आने वाले दिनों में इस मामले में और कई चौंकाने वाले खुलासे होने की संभावना है।

Published: 25 Oct 2018, 4:55 PM
लोकप्रिय