दिल्ली में सर्द हवाओं के थपेड़ों से लोग बेहाल, 1997 के बाद सबसे ज्यादा सर्द है राजधानी, दिन में भी राहत नहीं

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि दिल्ली में साल 1997 के बाद से अब तक दिसंबर महीने में सबसे लंबी अवधि के और सबसे सर्द दिन रिकॉर्ड किए गए हैं। मौसम विभाग ने आगे कहा कि गुरुवार को भी ठंड बरकरार रहेगी और दिन ढलने के साथ मौसम और ज्यादा ठंडा हो जाएगा।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में गुरुवार को भी अत्यधिक ठंड की स्थिति बनी रही। सुबह चारों ओर घने कोहरे के साथ पारा 5.8 डिग्री सेल्सियस तक लुढ़का, जो मौसम के औसत तापमान से दो डिग्री कम था। मौसम विभाग ने यह जानकारी दी। मौसम विभाग के अनुसार, साल 1997 के बाद से से यह दिसंबर सबसे ठंडा रहा है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा, “साल 1997 के बाद से अब तक दिसंबर महीने में सबसे लंबी अवधि के और सबसे सर्द दिन रिकॉर्ड किए गए हैं।” मौसम विभाग ने कहा कि गुरुवार को भी ठंड बरकरार रहेगी और दिन ढलने के साथ मौसम और ज्यादा ठंडा हो जाएगा। गुरुवार को अधिकतम तापमान के 15 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

बुधवार को अधिकतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो मौसम के औसत से सात डिग्री कम था जबकि न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री सेल्सियस रहा जो कि औसत से तीन डिग्री कम था। सिर्फ दिल्ली ही नहीं बल्कि पड़ोसी नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुरुग्राम में भी ठंड का कहर जारी है।

मौसम विभाग ने कहा कि 28 दिसंबर तक यहां ऐसी ही स्थिति रहेगी और इसके साथ ही सुबह और रात के समय घना कोहरा भी छाया रहेगा। राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार को सुबह 8.30 दृश्यता 700 मीटर रही। उत्तर भारत के कई हिस्सों में घना कोहरा छाए रहने के कारण लगभग 25 ट्रेनें देर से चलीं।

वहीं दिल्ली की वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई। केंद्र द्वारा संचालित वायु गुणवत्ता और मौसम अनुमान प्रणाली (सफर) के मुताबिक, गुरुवार सुबह दिल्ली का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक 258 दर्ज किया गया।

कंपकंपाती ठंड ने पूरे उत्तर भारत को परेशान कर रखा है। राजस्थान के सीकर में न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार, बुधवार की रात राज्य के पिलानी में न्यूनतम तापमान 4.3 डिग्री सेल्सियस, चूरू में 4.5 डिग्री सेल्सियस, जैसलमेर 5.4 डिग्री सेल्सियस और गंगानगर में 5.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भोपाल सहित समूचा मध्य प्रदेश ठंड से ठिठुरने लगा है। पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और पूर्वी उत्तर प्रदेश में दिन में अत्यधिक ठंडी रही जबकि पश्चिम उत्तर प्रदेश के अधिकतर हिस्सों में और दिल्ली, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में अलग-अलग स्थानों में ठंड से अत्यधिक ठंड की स्थिति रही।

बिहार और पश्चिम बंगाल में अलग-अलग स्थानों में दिन में ठंड रही। बिहार, उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, पंजाब, जम्मू-कश्मीर कई हिस्सों में कड़ाके के ठंड से लोग परेशान है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय