नोटबंदी की याद ताजा, प्याज खरीदने लाइन में खड़े शख्स की हुई मौत, पुलिस ने बताया नेचुरल डेथ

आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले में सब्सिडी की वजह से कम कीमत पर मिल रहा प्याज खरीदने के लिए लंबी कतार में लगे एक शख्स की मौत हो गई। हालांकि पुलिस ने इसे प्राकृतिक मौत मानते हुए कोई भी केस दर्ज करने से इनकार कर दिया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश में प्याज की कीमतों में लगी आग ने नोटबंदी के दर्द को ताजा कर दिया है। जिस तरह नोटबंदी के दौरान नकद के लिए बैंक और एटीएम की लाइनों लगे कुछ लोगों की मौत का दुखद मामला सामने आया था, उसी तरह का एक मामला प्याज खरीदने के दौरान भी सामने आया है। मामला आंध्र प्रदेश का है, जहां के कृष्णा जिले में प्याज खरीदने के लिए लंबी कतार में लगे एक शख्स की मौत हो गई। हालांकि पुलिस ने इसे प्राकृतिक मौत मानते हुए पुलिस ने कोई भी केस दर्ज करने से इनकार कर दिया है।

खबरों के मुताबिक मृतक का नाम साम्भाय रेड्डी था। बताया जा रहा है कि सोमवार को 60 साल के साम्भाय रेड्डी उन सैकड़ों लोगों की तरह लाइन में खड़े थे जो स्थानीय रायथू बाजार में प्याज खरीदने के लिए आए थे। बता दें कि राज्य में प्याज 180 रुपये प्रति किलो पहुंच गई है, जिसे देखते हुए यहां स्टेट मार्केटिंग डिपार्टमेंट द्वारा किसानों से सीधे प्याज खरीदने की सुविधा देने की वजह से यहां 25 रुपए किलो प्याज की बिक्री की जा रही है। इसी वजह से रविवार के बाद सोमवार को बाजार खुलने पर यहां लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई।

बताया जा रहा है कि प्याज खरीदने के लिए लंबी लाइन में लगे साम्भाय रेड्डी काउंटर तक पहुंचने के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे और तभी वो अचानक जमीन पर गिर पड़े। आसपास मौजूद लोगों ने उन्हें गुडीवाडा के सरकारी अस्पताल में ले जाकर भर्ती कराया। लेकिन वहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत करार दे दिया। वहीं, इस मामले के सामने आने के बाद पहुंची पुलिस ने साम्भाय रेड्डी की मौत को नेचुरल डेथ करार दिया है। पुलिस ने रेड्डी की मौत को प्राकृतिक मौत मानते हुए कोई भी केस दर्ज करने से इनकार कर दिया।

बता दें कि राज्य में प्याज की कीमत 200 के करीब पहुंचने के बाद मचे हाहाकार से दबाव में आई सरकार ने राज्य के अलग-अलग जगहों पर सब्सिडी पर लोगों को प्याज बेचने की सुविधा शुरू की है। इसके लिए विशाखपट्टनम, कुरनूल, तिरुपति समेत राज्य के अलग-अलग जिलों में बनाए गए काउंटरों पर लोगों की लंबी-लंबी कतारें देखने को मिल रही हैं। इस दौरान काफी अफरा-तफरी का माहौल देखा जाता है। ऐसे में अक्सर किसी हादसे की आशंका बनी रहती है।

लोकप्रिय