पाकिस्तान में पेट्रोल के दाम में 10.49 रुपये प्रति लीटर का इजाफा, सोशल मीडिया पर फूटा गुस्सा

पाकिस्तानी नागरिकों को शनिवार की सुबह पता चला कि वित्त मंत्रालय ने पेट्रोल की कीमत में 10.49 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी है। जैसा कि अपेक्षित था, कई लोगों ने सोशल मीडिया पर सरकार के इस कदम पर रोष जताया और इंटरनेट पर मीम्स की बाढ़ आ गई।

सोशल मीडिया
सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

इंटरनेट पर मीम्स की बात आने पर अपनी कटुता और बेजोड़ हास्य के लिए जाने जाने वाले पाकिस्तानियों ने ट्विटर पर पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में बढ़ोतरी के सरकार के फैसले की आलोचना की है। पाकिस्तान स्थित जियो न्यूज की एक हालिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तानी नागरिकों को शनिवार की सुबह पता चला कि वित्त मंत्रालय ने पेट्रोल की कीमत में 10.49 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी है। जैसा कि अपेक्षित था, कई लोगों ने सोशल मीडिया पर सरकार के इस कदम पर रोष जताया और इंटरनेट पर मीम्स की बाढ़ आ गई।

ट्विटर पर हैशटैग पेट्रोलप्राइस ट्रेंड कर रहा है, क्योंकि नेटिजन्स ने इस फैसले के बाद सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा निकाला है। पाकिस्तान के ट्विटर यूजर्स ने पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में उछाल के बाद गुस्सा निकालने के साथ ही काफी कमेंट्स ऐसे भी किए हैं, जिसमें उन्होंने सरकार का मजाक उड़ाया है। वहीं दूसरी ओर विपक्ष ने सरकार को घेरना शुरू कर दिया है।


पेट्रोल की कीमतों में हालिया बढ़ोतरी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, पीएमएल-एन के अध्यक्ष और नेशनल असेंबली में विपक्ष के नेता, शहबाज शरीफ ने कहा कि बिजली दरों में 14 प्रतिशत की वृद्धि के बाद, जनता पर पेट्रोल बम फोड़ा गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पीटीआई सरकार पर हमला करते हुए, शहबाज शरीफ ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान को पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है और उन्होंने उनके इस्तीफे की मांग की है।

दूसरी ओर पीपीपी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ने एक बयान में कहा कि पीटीआई सरकार पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए देश में महंगाई की सुनामी लेकर आई है।
उन्होंने कहा, सरकार वास्तव में अपनी अक्षमता के लिए लोगों पर आरोप लगा रही है। पीपीपी युग के दौरान, विश्व बाजार में पेट्रोलियम की बढ़ती कीमतों और उत्पादों का बोझ कभी भी जनता के कंधों पर नहीं डाला गया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia