उत्तर प्रदेश: 'फूलन की संपत्ति उनकी मां को मिले' निषाद पार्टी की योगी सरकार से मांग

संजय निषाद ने सितंबर में मिर्जापुर के चौबेघाट में फूलन की समाधि स्थल का दौरा किया था और कहा था कि वह केंद्र और राज्य सरकारों से अपील करेंगे कि उनकी मृत्यु के बाद उनकी संपत्ति का क्या हुआ, इसकी उच्च-स्तरीय जांच का आदेश दें।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से दिवंगत फूलन देवी की संपत्ति के संबंध में जांच के लिए आदेश देने का आग्रह किया है, ताकि फूलन की संपत्ति उनकी मां को मिल सके। फूलन की संपत्ति को कथित रूप से उनके कुछ दूर के रिश्तेदारों ने हड़प लिया है। जालौन में फूलन की मां और उनका परिवार दयनीय स्थिति में रह रहा है।

उन्होंने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री से मुलाकात की और उनसे फूलन की संपत्ति के बारे में बात की। हाल ही में मैं फूलन की मां से मिला था। परिवार घोर गरीबी में जी रहा है। मुख्यमंत्री ने कथित तौर पर निषाद को इस संबंध में आगे की कार्रवाई के लिए शिकायत देने को कहा है। संजय निषाद ने सितंबर में मिर्जापुर के चौबेघाट में फूलन की समाधि स्थल का दौरा किया था और कहा था कि वह केंद्र और राज्य सरकारों से अपील करेंगे कि उनकी मृत्यु के बाद उनकी संपत्ति का क्या हुआ, इसकी उच्च-स्तरीय जांच का आदेश दें।

फूलन की 25 जुलाई 2001 को दिल्ली में उनके आवास के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, जब वह मिर्जापुर से समाजवादी पार्टी की सांसद थीं। उनका जन्म अगस्त 1963 में जालौन के शेखपुर गुढ़ा का पुरवा गांव के एक मल्लाह परिवार में हुआ था। फूलन देवी 1996 में सांसद बनीं थी। निषाद पार्टी उनकी राजनीतिक विरासत का दावा करने की कोशिश कर रही है और उन्होंने घोषणा की है कि वह उनकी प्रतिमा स्थापित करेगी। निषाद ने कहा कि उनकी पार्टी फूलन के परिवार का ख्याल रखेगी। संजय निषाद ने कहा कि मुख्यमंत्री ने राज्य के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह से निषादों को आरक्षण का लाभ देने के लिए भी कहा है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia