बच्चों के वैक्सीन का अभियान 3 जनवरी से, 15-18 उम्र के बच्चों को लगेगा टीका, हेल्थवर्कर्स को प्रीकॉशन डोज दी जाएगी- पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्रिसमस के मौके पर देश के नाम संबोधन में ऐलान किया है कि 3 जनवरी से देश में 15 से 18 वर्ष के बच्चों को कोरोना वैक्सीन देने का अभियान शुरु किया जाएगा। उन्होंने यह भी घोषणा की कि हेल्थवर्कर्स को भी प्रीकॉशन डोज दी जाएगी।

प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना वायरस का प्रकोप एक बार डराने लगा है और इसका नया वेरिएंट ओमिक्रॉन तेजी से पैर पसार रहा है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सामने आए और उन्होंने ऐलान किया कि अगले साल 3 जनवरी से बच्चों का वैक्सीनेशन शुरु किया जाएगा। उन्होंने देश के नाम संबोधन में ऐलान किया कि 3 जनवरी 2022 से 15 से 18 साल के बच्चों का टीकाकरण अभियान शुरु किया जाएगा। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने यह भी घोषणा की कि हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए प्रीकॉशन डोज भी दी जाएगी। साधारण भाषा में इसे बूस्टर डोज कह सकते हैं। प्रीकॉश्न डोज देने का काम 10 जनवरी से होगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी ऐलान किया कि 60 साल से ऊपर के ऐसे लोग जिन्हें पहले से कुछ बीमारियां हैं उन्हें भी डॉक्टरों की सलाह पर वैक्सीन प्रीकॉशन डोज दी जाएगी। इसका अभियान भी 10 जनवरी से शुरु होगा।


क्रिसमस के मौके पर देश के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री ने कोरोना से लड़ाई को लेकर भारत की तैयारियों की जानकारी भई सामने रखी। उन्होंने कहा कि “इस बीमारी से लड़ाई का अब तक का अनुभव यही बताता है कि व्यक्तिगत स्तर पर सभी दिशानिर्देशों का पालन, कोरोना से मुकाबले का बहुत बड़ा हथियार है और दूसरा हथियार है वैक्सिनेशन।” प्रधानमंत्री ने कहा कि “भारत ने इस साल 16 जनवरी से अपने नागरिकों को वैक्सीन देना शुरू कर दिया था।“

उन्होंने बताया कि 25 दिसंबर तक भारत 141 करोड़ वैक्सीन डोज दे चुका है और देश की व्यस्क जनसंख्या के लगभग 90 फीसदी लोगों को वैक्सीन की कम से कम एक डोज लग चुकी है। उन्होंने बताया कि व्यस्क जनसंख्या में से 61 प्रतिशत से ज्यादा जनसंख्या को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है।

प्रधानमंत्री ने बताया कि इस समय देश में 18 लाख आईसोलेशन बेड्स, 5 लाख ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स, 1,40 लाख आईसीयू बेड्स, 90,000 बच्चों के आईसीयू और नॉन-आईसीयू बेड्स उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि इस समय 3000 से ज्यादा पीएसए ऑक्सीजन प्लांट काम कर रहे हैं और 4 लाख ऑक्सीजन सिलेंडर देशभर में पहुंचा दिए गए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia