संबोधन में भी चीन पर चुप्पी पर घिरे पीएम मोदी, कांग्रेस ने कहा- नाम तक लेने से डरते हैं

आज पीएम मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन में चीन का कोई जिक्र नहीं होने पर कांग्रेस ने एक बार फिर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा। कांग्रेस ने कहा कि चीन की आलोचना की बात भूल जाएं, पीएम मोदी तो राष्ट्रीय संबोधन में उसका नाम तक लेने से डरते हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश पर जारी कोरोना के कहर के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छठी बार मंगलवार शाम को देश को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने कोरोना वायरस और लॉकडाउन में छूट पर चर्चा की और कुछ अन्य घोषणाएं की। हालांकि, संबोधन से पहले उम्मीद थी कि प्रधानमंत्री संबोधन में भारत-चीन के बीच जारी तनाव और लद्दाख में भारतीय जमीन पर चीनी घुसपैठ पर भी कुछ कहेंगे। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। संबोधन में चीन का जिक्र नहीं होने पर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री पर सीधा हमला बोला है और कहा कि वह चीन का जिक्र करने से भी डरते हैं।

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी के राष्ट्र को संबोधित करने के फौरन बाद ट्वीट कर करारा हमला बोला। पीएम के संबोधन में चीन समस्या और घुसपैठ पर एक शब्द नहीं बोले जाने पर कांग्रेस ने तीखा हमला करते हुए कहा कि चीन की आलोचना करने वाली बात भूल जाएं, पीएम मोदी तो अपने राष्ट्रीय संबोधन में इसका जिक्र करने से भी डरते हैं। साथ ही कांग्रेस ने यह भी कहा कि पीएम मोदी ने संबोधन में जो कहा, उसके लिए महज एक सरकारी अधिसूचना काफी थी।

कांग्रेस ने एक तस्वीर भी लगाई है, जिसमें चीनी घुसपैठ को साफ देखा जा सकता है। तस्वीर पर लिखा है कि चीन भारत की सीमा में 423 मीटर अंदर तक घुसपैठ कर चुका है। फोटो के मुताबिक 25 जून की स्थिति के अनुसार भारतीय सीमा में चीन के 16 टेंट और टरपॉलिन लगे देखे गए। इसके साथ ही चीन की तकरीबन 14 गाड़ियां भी भारतीय क्षेत्र में देखी गईं। कांग्रेस ने पूछा कि क्या प्रधानमंत्री इसे नकार सकते हैं? कांग्रेस ने कहा कि भारत को ऐसे नेता की जरूरत है जो असफलता को स्वीकार करे और उसमें सुधार के लिए तैयार हो। ऐसे नेता की जरूरत नहीं है जो संकट को देखकर भी नजरअंदाज करे और उस पर बात करने से भी बचे।

इससे पहले राहुल गांधी ने भी पीएम मोदी के अपने संबोधन में चीनी घुसपैठ और सीमा विवाद पर कुछ नहीं बोलने को लेकर प्रधानमंत्री पर करारा तंज कसा। उन्होंने महज एक शेर ट्वीट कर कहा, "तू इधर-उधर की न बात कर, ये बता कि काफिला कैसे लुटा, मुझे रहजनों से गिला तो है, पर तेरी रहबरी का सवाल है।" राहुल गांधी के इस शायराना ट्वीट को पीएम मोदी के अपने संबोधन में चीनी घुसपैठ, अर्थव्यवस्था और बढ़ती पेट्रोल-डीजल कीमतों पर कुछ न बोलने पर तंज के तौर पर देखा जा रहा है।

Published: 30 Jun 2020, 7:23 PM
लोकप्रिय