कोरोना वैक्सीन लेने में भी पीएम मोदी ने दिया चुनावी संदेश, केरल-पुडुचेरी की नर्स से असम का गमछा पहनकर लिया टीका

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसी भी मौके पर चुनावी संदेश देने से नहीं चूकते हैं। पीएम ने आज कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाया। जिसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, लेकिन इसमें भी पीएम ने राजनीतिक तड़का लगा दिया।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

प्रधानमंत्री नरेंद्र ने सोमवार सुबह राजधानी दिल्ली के एम्स पहुंचकर कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाया। इस बारे में उन्होंने स्वंय ही ट्वीट कर देश को सूचित किया, जिसके बाद टीका लगवाते हुए उनकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। प्रधानमंत्री ने भारत में बनी कोवैक्सीन का टीका लिया। पीएम के इस कदम से जहां भारत में बनी वैक्सीन को लेकर आशंकाओं पर विराम लगेगा, वहीं लोगों में देसी वैक्सीन को लेकर भरोसा भी बढ़ेगा।

लेकिन, प्रधानमंत्री के इस कदम के जहां प्रशंसनीय माना जा रहा है, वहीं इसके पीछे छिपे राजनीतिक और चुनावी संदेश को भी नजरंदाज़ नहीं किया जा सकता। एम्स में प्रधानमंत्री को टीका लगाने के लिए दो नर्सें मौजूद थीं। इनमें से एक का नाम सिस्टर निवेदा है और दूसरी का रोजम्मा अनिल। एक केरल से हैं दूसरी पुडुचेरी से। इन दोनों ही राज्यों विधानसभा चुनावों का ऐलान हो चुका है। वैक्सीन लेने की सूचना खुद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर दी।

इसके अलावा प्रधानमंत्री ने टीका लगवाते वक्त जो गमछा पहन रखा है वह असम का है। असम में भी विधानसभा चुनावों का ऐलान हो चुका है। इस तरह पीएम ने कोरोना वैक्सीन लेकर जहां देसी वैक्सीन को लेकर लोगों में भरोसा जताने का काम किया, वहीं एक राजनीतिक और चुनावी संदेश भी दिया।


प्रधानमंत्री को टीका लगाने वाली नर्स सिस्टर पी निवेदा ने बाद में पत्रकारों से कहा कि प्रधानमंत्री को वैक्सीन की अगली खुराक 28 दिन बाद दी जाएगी। उन्होंने कहा कि टीका लगाए जाने के बाद पीएम ने कहा, "वैक्सीन लगा भी दी और पता भी नहीं चला।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia