पीएम आम लोगों से नहीं, उद्योगपतियों से बंद कमरे में करते हैं बात, तमिलनाडु पहुंचे राहुल गांधी ने बोला हमला

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज तमिलनाडु के दौरे पर पीएम मोदी पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि पीएम तो बंद कमरे में सिर्फ कुछ बड़े उद्योगपतियों से ही बात करते हैं, आम लोगों से नहीं। उन्होंने कहा कि विवादित कृषि कानून किसानों पर नोटबंदी जैसा प्रहार हैं।

फोटोः @INCTamilnadu
फोटोः @INCTamilnadu
user

नवजीवन डेस्क

तमिलनाडु विधानसभा चुनाव से पहले शनिवार को राज्य के दौरे पर पहुंचे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र की बीजेपी सरकार और पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य की अन्नाद्रमुक सरकार ने केंद्र सरकार के साथ समझौता कर लिया है और पीएम मोदी जो चाहते हैं, वो करवाने के लिए सीबीआई और दूसरी केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल करते हैं। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी आम लोगों से नहीं, बल्कि बंद कमरे में कुछ बड़े उद्योगपतियों से बात करते हैं।

तिरुप्पुर में एक जनसंवाद कार्यक्रम में लोगों के सवालों का जवब देते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि मैं तो आप लोगों से सीधे बात करता हूं और आपके सवालों के जवाब भी देता हूं, लेकिन पीएम तो बंद कमरे में सिर्फ 4-5 उद्योगपतियों से ही बात करते हैं। उन्होंने कहा कि आज देश में गरीबों और कामगारों पर योजनाबद्ध हमले हो रहे हैं। यह सिर्फ नीतियों की खामी नहीं है, बल्कि यह जानबूझकर देश के छोटे और मध्यम उद्योग-धंधों और कामगारों को खत्म करने की कोशिश है।

जनसंवाद में एक बार राहुल गांधी ने कृषि कानूनों पर सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानून किसानों पर नोटबंदी जैसा प्रहार हैं। उन्होंने कहा कि मैं खुश हूं कि किसानों ने दिल्ली के दरवाजे पर बैठकर पीएम मोदी के इन कानूनों को लागू करने से रोक दिया है। उन्होंने कहा कि पीएम को गरीबों की ताकत का अंदाजा नहीं है और हमारा काम है कि उन्हें गरीबों, कामगारों और किसानों की ताकत का एहसास कराएं।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने तमिलनाडु की जनता से वादा करते हुए कहा, “मैं तमिलनाडु के लोगों के साथ मिलकर काम करूंगा, ताकि आप लोगों को वो सरकार मिल सके जिसके आप सब हकदार हैं।” उन्होंने कहा कि हम तमिलनाडु में एक ऐसी सरकार लाने में मदद करना चाहते हैं जो सही मामलों में गरीबों, किसानों, मजदूरों और छोटे व मझोले कारोबारियों का सम्मान करती हो।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय