उत्तर प्रदेश में जुमे की नमाज के बाद हुए प्रदर्शन पर पुलिस का एक्शन, अब तक 227 आरोपी गिरफ्तार, अन्य की तलाश जारी

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज और सहारनपुर में पैगंबर मोहम्मद पर बीजेपी के पूर्व प्रवक्ताओं की टिप्पणी के विरोध को लेकर शुक्रवार को नमाज के बाद हिंसा और नारेबाजी की घटनाएं सामने आईं थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

निलंबित बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा की विवादास्पद टिप्पणी पर शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में हुए विरोध के बाद कुल 227 आरोपियों की अब तक गिरफ्तारी हुई हैं। यह जानकारी यूपी के एडीजी (कानून व्यवस्था) ने दी है।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज और सहारनपुर में पैगंबर मोहम्मद पर बीजेपी के पूर्व प्रवक्ताओं की टिप्पणी के विरोध को लेकर शुक्रवार को नमाज के बाद हिंसा और नारेबाजी की घटनाएं सामने आईं थी।

प्रयागराज के अटाला में नमाज के बाद परेशानी तब शुरू हुई जब प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी शुरू कर दी। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को अलग-अलग दिशाओं में जाने से रोकने की कोशिश की। हालांकि, कुछ प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया, जवाबी कार्रवाई में आंसू गैस के गोले छोड़े गए।

सहारनपुर में प्रदर्शनकारियों ने बीजेपी के पूर्व प्रवक्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए नारेबाजी की। इसी तरह के दृश्य मुरादाबाद और लखनऊ से भी सामने आए थे। लखनऊ में, टाइल वाली मस्जिद में हजारों प्रदर्शनकारियों को पुलिस बल द्वारा बैरिकेड्स पार करने से रोका गया।


अतिरिक्त महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा था कि स्थिति में शांति सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त बल तैनात किए गए हैं। उन्होंने कहा था कि स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है और अधिकारी सोशल मीडिया पर भी कड़ी नजर रखे हुए हैं।

राज्य के अन्य शहरों के कुछ इलाकों में नूपुर शर्मा के बयान के विरोध में मुसलमानों ने अपनी दुकानों के शटर गिरा दिए थे। कुछ जगहों पर मुस्लिम समुदाय ने अपनी मांगों को लेकर जिला अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा।

नूपुर शर्मा ने एक निजी चैनल के लाइव टीवी शो के दौरान नफरत भरे बयान दिए थे, जिससे मुस्लिम देशों में आक्रोश फैल गया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia