कोलकाता की सड़क पर पुलिस जवान ने की अंधाधुंध फायरिंग, एक महिला की मौत, खुद को भी गोली मारकर खत्म किया

पुलिसकर्मी बांग्लादेश उप उच्चायोग में तैनात था और घटनास्थल कार्यालय से मुश्किल से 50 मीटर दूरी पर है। स्थानीय लोगों ने कहा कि पुलिसकर्मी ने ऐप-बाइक में सवार महिला को टक्कर मारकर अपनी सर्विस राइफल से अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

एक चौंकाने वाली घटना में कोलकाता में पार्क सर्कस क्रॉसिंग के पास बांग्लादेश उप उच्चायोग के बाहर एक पुलिस जवान ने दिनदहाड़े अपनी सर्विस राइफल से अंधाधुंध फायरिंग की, जिससे वहां से गुजर रही एक महिला बाइक सवार की मौत हो गई। बाद में पुलिस जवान ने खुद को भी गोली मार ली, जिससे उसकी भी मौत हो गई। आलाधिकारी मामले की जांच में जुटे हैं।

पुलिस के आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं। आगे के विवरण की प्रतीक्षा की जा रही है। एकपुलिस अधिकारी ने कहा कि मुख्य रूप से हमारे पास यह जानकारी है कि इसका पार्क सर्कस आंदोलन (नूपुर शर्मा के खिलाफ) से कोई संबंध नहीं है। संभवत: कांस्टेबल किसी प्रकार के अवसाद से पीड़ित था, हम निश्चित नहीं हैं। उचित पुष्टि के बाद हम कुछ कह सकते हैं। कांस्टेबल की मौत हो गई है।"


पुलिसकर्मी बांग्लादेश उप उच्चायोग में तैनात था और गोलीबारी की जगह कार्यालय से मुश्किल से 50 मीटर की दूरी पर थी। स्थानीय लोगों ने कहा कि पुलिस को बांग्लादेश उप उच्चायोग के कार्यालय के बाहर गार्ड चौकी पर तैनात किया गया था। चश्मदीदों के मुताबिक, पुलिसकर्मी ने ऐप-बाइक में सवार एक महिला को टक्कर मारते हुए अपनी सर्विस राइफल से अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

चश्मदीदों ने बताया कि गोलीबारी में ऐप-बाइक का चालक भी घायल हो गया, लेकिन वह भागने में सफल रहा। बाद में पुलिसकर्मी ने उसी राइफल से खुद को भी गोली मार ली और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। पूरी घटना पांच मिनट के अंतराल में हुई जिसमें कम से कम नौ राउंड फायर किए गए।


अतिरिक्त पुलिस आयुक्त प्रवीण कुमार त्रिपाठी और संयुक्त आयुक्त (यातायात) संतोष पांडे सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे, जिसके बाद मृत महिला और हत्यारे पुलिस वाले के शवों को वहां से ले जाया गया। एक सूत्र ने बताया कि पुलिसकर्मी ने शुक्रवार को गार्ड चौकी पर ड्यूटी ज्वाइन की थी, इसलिए वह दूसरों को नहीं जानता था। एक स्थानीय निवासी ने कहा, "शुक्रवार की नमाज के कारण इलाके में भीड़ कम थी। नहीं तो हताहतों की संख्या ज्यादा हो सकती थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia