यूपी पुलिस का कमाल, जिसे दिलानी थी कठोर सजा, उसे अय्याशी कराती पकड़ी गई

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में पेशी के लिए लाए गए एक हत्यारोपी और उसकी प्रेमिकी को यूपी पुलिस के जवानों द्वारा होटल में ऐश कराने का मामला सामने आया है। स्थानीय पुलिस द्वारा होटल पर छापेमारी के दौरान हत्यारोपी के साथ ही पुलिस वाले भी रंगे हाथ पकड़े गए।

सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी की योगी आदित्यनाथ की सरकार में लगता है कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने तमाम रिकॉर्ड तोड़ने और एक से बढ़कर एक कमाल करने का ठेका ही ले लिया है। इसकी बानगी कहीं और नहीं सीएम आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर में देखने को मिली। जहां कोर्ट में पेशी के लिए लाए गए एक दुर्दान्त हत्यारोपी को होटल में प्रेमिका के साथ ऐश कराने का मामला सामने आया है। इतना ही नहीं आरोपी को पेश के लिए लेकर आए पुलिस वाले भी उसी होटल के दूसरे कमरे में अय्य़ाशी करते पाए गए। हालांकि, स्थानीय पुलिस ने छापा मारकर मामले का भांडाफोड़ कर दिया और सभी को हिरासत में ले लिया।

दरअसल प्रदेश के हरदोई जेल में हत्या के मामले में कैद कामेश्वर उर्फ डब्लू सिंह पर तीन हत्या के आरोप हैं, जिनमें से दो में उसे पहले ही जमानत मिल चुकी थी और तीसरे मामले में पेशी के लिए उसे सोमवार को गोरखपुर के देवरिया कोर्ट लाया गया था। मिली जानकारी के अनुसार पेशी के बाद आरोपी अपनी प्रेमिका से मिलने एक होटल में चला गया। उसके साथ उसे पेशी के लिए लेकर आए पुलिस वाले भी होटल गए और वहां जमकर खाना-पीना किया।

इस मामले की सूचना किसी तरह स्थानीय पुलिस को मिली तो आननफानन में पुलिस की एक टीम होटल पहुंची और कैदी के साथ सभी पुलिसवालों को भी रंगे हाथ पकड़ लिया गया। पुलिस के मुताबिक, छापेमारी में होटल के एक कमरे में हत्यारोपी डब्लू अपनी प्रेमिका के साथ आपत्तिजनक हालत में मिला, जबकि पुलिस वाले भी दूसरे कमरों में खाते-पीते और ऐश करते पाए गए। पुलिस ने सभी को वहां से हिरासत में ले लिया और थाने ले आई।


हालांकि बताया जा रहा है कि कार्रवाई के बाद स्थानीय पुलिस ने हत्यारोपी को वापस हरदोई जेल भेज दिया है। वहीं, बताया जा रहा है कि पुलिस ने आरोपी के दूसरे साथियों संग प्रेमिका को भी बाद में छोड़ दिया। हालांकि स्थानीय पुलिस ने कहा है कि पेशी पर आरोपी के एक होटल में अपनी प्रेमिका के साथ पाए जाने की घटना की रिपोर्ट हरदोई के एसपी को भेजी जा रही है। इसमें पुलिस वालों को भी हत्यारोपी का साथ देने का दोषी बताया गया है।

गौरतलब है कि कामेश्वर उर्फ डब्लू सिंह पर तीन लोगों की हत्या का आरोप है। डब्लू पर अपने ही गांव के रमेश सिंह और अरुण सिंह की हत्या के साथ सिघडि़यां निवासी विवेक सिंह की हत्या का भी आरोप है। अरुण सिंह और विवेक सिंह की हत्या के मामलों में उसे जमानत मिल गई थी। तीसरे मामले यानि रमेश सिंह की हत्या के केस में वह इस समय जेल में है। इसी मामले की पेशी के लिए वह गोरखपुर गया था, जहां उसकी अय्याशी का भांडाफोड़ हो गया। बताया जा रहा है कि डब्लू सिंह के होटल में अपनी प्रेमिका के साथ होने की जानकारी अरुण सिंह के बेटे दीपक ने पुलिस को दी थी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */