दिल्ली में निगम चुनाव से पहले शुरू हुई नाम पर राजनीति, मोहम्मदपुर गांव का नाम बदलकर माधवपुरम करने की मांग

शुक्रवार को दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की जोनल बैठक में मुनिरका से पार्षद और बीजेपी नेता भगत सिंह टोकस ने इस संबंध में प्रस्ताव रखते हुए कहा कि लोगों की मांग और भावना को देखते हुए मैं गांव का नाम मोहम्मदपुर से माधवपुरम करने का प्रस्ताव करता हूं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली में औरंगजेब रोड का नाम बदलकर एपीजे अब्दुल कलाम रोड, डलहौजी रोड का नाम बदलकर दारा शिकोह रोड करने के बाद अब एक गांव का नाम बदलने की मांग उठी है। अब बीजेपी नेता भगत सिंह टोकस ने वार्ड नंबर-66 के मोहम्मदपुर गांव का नाम बदलकर माधवपुरम करने का प्रस्ताव रखा है।

दिल्ली के मुनिरका से पार्षद भगत ने शुक्रवार को हुई एक बैठक में इस प्रस्ताव को सबके सामने रखा। इस प्रस्ताव में लिखा गया है कि मुगल काल में दिल्ली के सभी गांव के नाम मुगलों द्वारा जबरन बदला गया। वार्ड संख्या-66 के अंतर्गत मोहम्मदपुर गांव जो शहरीकृत ग्रामीण क्षेत्र की श्रेणी में आता है और दक्षिण दिल्ली नगर निगम के अधिकार क्षेत्र में है के लोगों की पिछले लंबे समय से गांव का नाम बदलने की मांग लंबित है।

दिल्ली में निगम चुनाव से पहले शुरू हुई नाम पर राजनीति, मोहम्मदपुर गांव का नाम बदलकर माधवपुरम करने की मांग

शुक्रवार को दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की जोनल बैठक में प्रस्ताव रखते हुए भगत सिंह टोकस ने आगे कहा कि लोगों की मांग और भावना को देखते हुए मैं गांव का नाम मोहम्मदपुर से माधवपुरम करने का प्रस्ताव करता हूं। जिस वक्त बीजेपी नेता भगत सिंह टोकस इस प्रस्ताव को पढ़ रहे थे उस वक्त बैठक में बैठे अन्य लोगों ने भी अपना समर्थन दिया।

हालांकि इस मामले पर दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के चेयरपर्सन सुभाष बडाना का कहना है कि मोहम्मदपुर का नाम माधवपुरम बदलने का एक प्रस्ताव मिला है, हालांकि हम आगामी बैठक पर इस पर विचार विमर्श करेंगे। उसके बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia