तमिलनाडु, केरल, पुद्दुचेरी में कल सभी सीट पर एक साथ चुनाव, बंगाल और असम में भी तीसरे चरण की वोटिंग

कल के चुनाव में पांचों राज्यों में कई दिग्गज नेताओं की साख दांव पर है। कल के चुनाव के बाद केवल बंगाल में पांच चरणों का मतदान बाकी रहेगा जो इस महीने के अंत तक चलेगा। इसके बाद सभी राज्यों के नतीजे एक साथ 2 मई को आएंगे।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

तमिलनाडु, केरल और पुद्दुचेरी विधानसभा चुनाव के लिए सभी सीटों पर कल 6 अप्रैल को एक चरण में वोटिंग होगी। कल ही असम और पश्चिम बंगाल में भी तीसरे चरण का मतदान होगा। असम में कल के चुनाव के साथ सभी सीटों पर मतदान की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। कल के चुनाव में पांचों राज्यों में कई दिग्गजों की साख दांव पर है। कल के चुनाव के बाद केवल बंगाल में पांच चरणों का मतदान बाकी रहेगा जो इस महीने के अंत तक चलेगा। इसके बाद सभी राज्यों के नतीजे एक साथ 2 मई को आएंगे।

तमिलनाडु में कांटे का मुकाबला

राज्यवार बात करें तो दक्षिण भारत के बड़े राज्य तमिलनाडु में कल एक चरण में सभी 234 सीटों पर एक साथ वोट डाले जाएंगे। राज्य के मतदाता कल 3998 उम्मीदवारों की किस्मत पर अपना फैसला सुना देंगे। राज्य में मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ एआईडीएमके और बीजेपी के गठबंधन और डीएमके और कांग्रेस गठबंधन के बीच है। एआईएडीएमके 179 और बीजेपी 20 सीट पर लड़ रही है। जबकि डीएमके 173 सीट पर तो कांग्रेस 25 सीट पर मैदान में है। जयललिता की करीबी शशिकला के भतीजे टीटी दिनाकरन अपनी पार्टी एएमएमके का तीसरा मोर्चा 161 सीटों पर मैदान में हैं। इसके अलावा कमल हासन की पार्टी मक्कल निधि माइम भी 142 सीटों पर चुनाव मैदान में है।

हाई प्रोफाइल सीटों की बात करें तो मुख्यमंत्री और एआईडीएमके नेता ई के पलानीस्वामी सेलम जिले के इडप्पाडी विधानसभा सीट से मैदान में हैं। उनके खिलाफ डीएमके के युवा नेता टी सम्पत कुमार हैं। राज्य के डिप्टी सीएम पन्नीरसेल्वम वे बोडिनायाकन्नूर सीट से मैदान में हैं। इसी तरह थाउसंड लाइट्स सीट से बीजेपी ने फिल्म अभिनेत्री खुशबू सुंदर को उतारा है। दूसरी तरफ डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन कोलाथुर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। इसी तरह उनके बेटे उदयनिधि चेपॉक सीट से मैदान में हैं। इने अलावा शशिकला के भतीजे दिनाकरन कोविलपट्टी सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

केरल का महामुकाबला

केरल की बात करें तो 140 सीटों पर कुल 957 प्रत्याशी मैदान में हैं। मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट और कांग्रेस की अगुवाई वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के बीच है। बीजेपी इस मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने में लगी है। चुनाव में कांग्रेस 93, जबकि सहयोगी यूनियन मुस्लिम लीग 25, केरल कांग्रेस (जोसेफ) 10, आरएसपी 5 और अन्य 7 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, एलडीएफ से सीपीएम 77, सीपीआई 24, केरल कांग्रेस 12, जेडीएस 4, एनसीपी 3, इंडियन नेशनल लीग 3 और बाकी 17 सीटों पर अन्य सहयोगी दल मैदान में हैं। बीजेपी 113 सीटों पर लड़ रही है जबकि उसकी सहयोगी पार्टी 21 सीटों पर लड़ रही है।

केरल की हाई प्रोफाइल सीटों की बात करें तो सबकी निगाहे उत्तरी केरल के धरमादोम सीट पर रहेंगी, जहां से सीएम पिनाराई विजयन चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं कोट्टयम के पुथुपल्ली सीट से दो बार मुख्यमंत्री रहे कांग्रेस के ओमन चांडी मैदान में हैं। उनके खिलाफ सीपीएम के 30 साल के युवा जैक सी थॉमस मैदान में है। इसी तरह पलक्कड़ सीट पर भी सबकी नजर होगी, जहां से बीजेपी ने मेट्रो मैन ई. श्रीधरन को उतारा है। इसी तरह बीजेपी ने केरल में पहली बार मिली नेमोम सीट से मौजूदा विधायक को हटाकर मेघालय के पूर्व गर्वनर के राजशेखरन को उतारा है। यहां कांग्रेस से पूर्व मुख्यमंत्री के करुणाकरण के बेटे और सांसद के मुरलीधरन मैदान में हैं।

पुद्दुचेरी का फैसला भी कल

केंद्रशासित प्रदेश पुद्दुचेरी में भी कल कुल 33 में से 30 सीटों पर चुनाव होंगे, जिन पर कुल 323 प्रत्याशी मैदान में हैं। बाकी के 3 सदस्यों को मनोनित किया जाता है। यहां कांग्रेस एक बार फिर डीएमके के साथ मिलकर सत्ता में लौटने के लिए जोर लगाए हुए है, वहीं, बीजेपी ने एआईएनआरसी और एआईएडीएमके के साथ मिलकर सत्ता पाने की कोशिश में लगी है। यहां अभिनेता से नेता बने कमल हसन की पार्टी भी किस्मत आजमा रही है।

पुडुचेरी की हाई प्रोफाइल सीट की बात करें तो यानम सीट पर सबकी निगाहें हैं जहां से बीजेपी की सहयोगी एआईएनआरसी के नेता एन रंगासामी चुनाव लड़ रहे हैं। वह थातांचवडी सीट से भी मैदान में हैं। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ए वी सुब्रमण्यन कराईकल (उत्तर) से चुनाव लड़ रहे हैं। पूर्व मंत्री एम ओ एच एफ शाहजहां कामराज नगर सीट से मैदान में हैं। मन्नादीपिप सीट भी काफी अहम है, जहां से पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री ए नमस्सिवयम बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं।

असम में बीजेपी और हिंमत बिस्वा सरमा की साख दांव पर

पूर्वोत्तर राज्य असम में भी कल तीसरे और अंतिम चरण के चुनाव के तहत लोअर असम और बोडोलैंड क्षेत्र के 16 जिलों की 40 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। असम का तीसरा चरण काफी अहम माना जा रहा है। साल 2016 के चुनाव में इन 40 सीटों पर बीजेपी और कांग्रेस ने 11-11 सीटें हासिल की थीं। अहम बात यह है कि पिछले तीन विधानसभा चुनावों से कांग्रेस ने इन इलाकों में अपनी 11 सीटें बरकरार रखी हैं। इन 40 में से 14 सीट पर मुस्लिम मतदाताओं का और सात सीटों पर बोडो जनजातियों का खासा असर माना जाता है।

हाई प्रोफाइल सीटों की बात करें तो इस चरण में जलुकबारी सीट पर हर किसी की नजर है, क्योंकि यहां से बीजेपी सरकार के कद्दावर मंत्री हेमंत बिस्व सरमा चुनाव लड़ रहे हैं। इसी चरण में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रंजीत कुमार दास पटाचारुची सीट से मैदान में हैं। इसी तरह चायगांव सीट पर भी लोगों की नजर होगी, जहां से कांग्रेस के रेकिबुद्दीन अहमद मैदान में हैं, जिनका मुकाबला एजीपी के डॉ. कमल कांता कलिता से है, जो लगातार चार बार से इस सीट पर जीत रहे हैं। इनके अलावा चापागुड़ी सीट पर भी नजर होगी जहां से साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता उरखाव गवरा ब्रह्मा बीजेपी की सहयोगी यूपीपीएल के टिकट पर लड़ रहे हैं।

पश्चिम बंगाल में ममता के साथ भतीजे अभिषेक की साख दांव पर

पश्चिम बंगाल में भी कल तीसरे चरण के तहत 31 सीटों पर वोटिंग होगी। इन पर कुल 211 उम्मीदवार मैदान में हैं। इस चरण में हावड़ा की 7, हुगली की 8 और दक्षिण 24 परगना की 16 सीटें शामिल हैं। बीजेपी और टीएमसी ने सभी 31 सीटों पर अपने-अपने प्रत्याशी उतारे हैं, जबकि सीपीएम ने 13 और कांग्रेस ने 7 उम्मीदवार उतारे हैं। इस दौर में जिन इलाकों में वोटिंग होनी है, वे टीएमसी का मजबूत गढ़ माने जाते हैं, जिसे बचाने की चुनौती ममता बनर्जी के सामने है। उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी की साख भी दांव पर है, क्योंकि उनकी संसदीय सीट डायमंड हार्बर में आने वाली सीटों पर इसी चरण में वोटिंग है।

बंगाल के तीसरे चरण का चुनाव कई दिग्गज नेताओं की किस्मत का भी फैसला करने वाला है। सभी की निगाहें तारकेश्वर सीट पर लगी हैं, जहां से बीजेपी ने पूर्व राज्यसभा सांसद स्वपन दासगुप्ता को उतारा है। इसी तरह डायमंड हार्बर सीट पर टीएमसी के पन्नालाल हलदर की साख दांव पर है। श्यामपुर सीट से टीएमसी के कालीपद मंडल के खिलाफ बीजेपी ने अभिनेत्री तनुश्री चक्रवर्ती को उतारा है, जबकि कांग्रेस ने यहां अमिताभ चक्रवर्ती को टिकट दिया है। इसी चरण में रुईपुर पश्चिम सीट से विधानसभा अध्यक्ष और टीएमसी नेता बिमान बनर्जी लड़ रहे हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय