बिहार में अगस्त में हो सकता है पंचायत चुनाव के पहले चरण का मतदान, 10 चरण में कराने की तैयारी

बिहार में 2016 में गठित त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था और ग्राम कचहरी को इस साल 15 जून को भंग कर दिया गया था। कोरोना के चलते चुनाव नहीं हो पाने की स्थिति में पंचायती राज की नई व्यवस्था- परामर्शी समिति का गठन किया गया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग की तैयारी जोरों पर है। संभावना व्यक्त की जा रही है कि अगस्त के अंतिम सप्ताह में पहले चरण का चुनाव कराया जाए। इस बीच आयोग ने कोरोना काल में चुनाव को लेकर कई आवश्यक कदम उठाए हैं। राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव को लेकर सभी जिलों से 10 चरणों में मतदान कार्यक्रम की तैयार रिपोर्ट प्राप्त कर ली है। आयोग 10 चरणों में चुनावी कार्यक्रम की तैयारी में जुट गया है।

आयोग के सूत्रों के मुताबिक अक्तूबर-नवंबर तक के सभी पर्व-त्योहारों को ध्यान में रखकर मतदान की तैयारी की जा रही है। आयोग द्वारा पंचायती राज के पदों के लिए चुनावी कार्यक्रम के तहत हर चरण में अधिसूचना जारी होने से लेकर मतदान के बीच 25 दिनों का अंतराल निर्धारित किए जाने की संभावना है।


आयोग के मुताबिक 850 मतदाताओं पर एक मतदान केंद्र गठन किया गया है। राज्य निर्वाचन आयोग ने बताया कि त्रिस्तरीय पंचायत के छह पदों पर नामांकन पत्र दाखिल करने वाले प्रत्याशियों को ऑनलाइन नामांकन पत्र दाखिल करने का विकल्प दिया गया है। आयोग ने कहा कि जो उम्मीदवार ऑनलाइन पद्धति से नामांकन पत्र दाखिल करना चाहते हैं, उनको निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर प्रारूप उपलब्ध है।

निर्वाचन आयोग ने रैली और सार्वजनिक सभा को लेकर भी कहा है कि प्रत्याशी वैसे सार्वजनिक स्थलों का चयन करें जहां पर सार्वजनिक सभा हो सके और वहां प्रवेश और निकास के लिए स्पष्ट रूप से निर्धारण किया जाए। आयोग ने साफ कहा है कि अग्रिम तौर पर मार्कर द्वारा सामाजिक दूरी के निर्धारित मानकों को चिन्हित किया जाना चाहिए। आयोग ने कहा है कि प्रत्येक मतदान केंद्रों पर थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। बुखार होने वाले मतदाताओं को अंतिम घंटे में मतदान करने का मौका मिलेगा।

बता दें कि बिहार में 2016 में गठित त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था और ग्राम कचहरी को इस साल 15 जून को भंग कर दिया गया था। कोरोना के चलते चुनाव नहीं हो पाने की स्थिति में पंचायती राज की नई व्यवस्था- परामर्शी समिति का गठन किया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia