यूपी के गोंडा में पूजारी पर हमला: यूपी पुलिस का बड़ा खुलासा, खुद पर शूटर से चलवाई थी गोली, 7 गिरफ्तार

यूपी के गोंडा की पुलिस ने दावा किया है कि रामजानकी मंदिर के पुजारी पर हुए जानलेवा हमले की साजिश स्वयं उसने 7 लोगों के साथ मिलकर रची थी। यह खुलासा गोंडा की पुलिस ने किया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

विनय कुमार

यूपी के गोंडा में पुजारी सम्राट दास ने 10 अक्टूबर को खुद पर हमला करवाया था क्योंकि वह अमर सिंह को झूठे मामले में फंसाना चाहता था और उसकी 120 बीघा जमीन हड़पना चाहता था, गोंडा पुिलस ने मामले में 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी। हमले को लेकर विपक्ष ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रति हमलावर रुख दिखाया था।

गोंडा पुलिस ने शनिवार को इटियाथोक थाना क्षेत्र के अंतर्गत तिरेमनोरमा गांव के हरिद्वार सिंह बाग से मुन्ना सिंह, विपिन, नीरज सिंह, सोनू सिंह, महंत सीताराम, शिव शंकर सिंह और विनय कुमार को गिरफ्तार किया।

गोंडा के एसपी शैलेष पांडेय ने कहा कि सम्राट दास को कंधे पर गोली लगी है और उसका इलाज अस्पताल में चल रहा है। अस्पताल से छुट्टी मिलते ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस ने सोनू सिंह, महंत सीताराम, और मुन्ना सिंह के पास से देसी तमंचा जब्त किया है।

मुन्ना ने कथित तौर पर पुजारी पर गोली चलाई थी, जिसके बाद पुजारी ने दावा किया कि अमर सिंह ने मुकेश सिंह, भयहरण सिंह और दरोगा सिंह के साथ मिलकर उस पर हमला किया था, जब वह 10-11 अक्टूबर की रात मंदिर में सो रहा था। गोंडा एसपी ने कहा कि दोनों के बीच जमीन को लेकर विवाद था।

अभियुक्त विनय कुमार यहां तक कि अमर सिंह के खिलाफ आगामी पंचायत चुनाव लड़ने की योजना बना रहा था। पुलिस अधिकारी ने कहा, "इस प्रकार दोनों ने अमर सिंह को फंसाने की साजिश रची।" पुलिस ने पुजारी के बयान के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की थी और उसी दिन दरोगा और भयहरण को गिरफ्तार किया था। अब, वे रिहा कर दिए जाएंगे।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय
next