BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने बापू के हत्यारे गोडसे की देशभक्तों से की तुलना! दिग्विजय सिंह के बयान पर दी प्रतिक्रिया

ऐसा पहली बार नहीं है जब बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे को देशभक्त बताया हो। इससे पहले भी कई बार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर इस तरह के बयान देती नजर आई है। साल 2019 में संसद के अंदर और बाहर साध्वी ने गोडसे का समर्थन करते हुए उसे देशभक्त बताया था।

फोटो: ANI
फोटो: ANI
user

पवन नौटियाल

भोपाल से बीजेपी सांसद और विवादों में रहने वाली साध्वी प्रज्ञा ठाकुर एक बार फिर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के समर्थन में उतरी है। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने नाथूराम गोडसे की तुलना देशभक्तों से की है। साध्वी प्रज्ञा ने ये प्रतिक्रिया कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के बयान पर दी है। जिसमें दिग्विजय सिंह ने बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे को पहला आतंकवादी बताया है।

दिग्विजय सिंह के इस बयान के तुरंत बाद साध्वी प्रज्ञा गोडसे के समर्थन में उतरी और बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे की तुलना देशभक्तों से की है। साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि कांग्रेस हमेशा से देशभक्तों के साथ दुर्व्यवहार करती रही है। ऐसा पहली बार नहीं है जब प्रज्ञा ने गोडसे को देशभक्त बताया हो। इससे पहले भी साल 2019 में प्रज्ञा ठाकुर के संसद में दिए एक बयान के बाद हंगामा मच गया था।

दरअसल साल 2019 में लोकसभा में एसपीजी संशोधन बिल पर बहस के दौरान डीएमके नेता ए राजा ने गोडसे के उस कथन का जिक्र किया जिसमें उसने कहा था कि उनसे महात्मा गांधी की हत्या क्यों की। इसी दौरान प्रज्ञा ठाकुर ने बीच में टोकते हुए कहा कि “आप एक देशभक्त का उदाहरण नहीं दे सकते।” राजा ने कहा कि गोडसे ने खुद स्वीकार किया था उसे महात्मा गांधी से बैर था जिसके बाद उसने उनकी हत्या करने का निश्चय किया था। राजा ने कहा कि गोडसे एक खास विचारधारा का व्यक्ति था इसीलिए उसने महात्मा गांधी की हत्या कर दी।

इसी साल(2019) में कई बार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर इस तरह के बयान देती नजर आई है। 16 मई 2019 को भी उन्होंने बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे। उन्होंने आगे कहा कि, “नाथूराम गोडसे को आतंकवादी कहने वाले लोगों को खुद के भीतर देखना चाहिए, ऐसे लोगों को चुनावों में जवाब मिलेगी।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय