गर्भवती महिलाओं को टीके की दोनों खुराक लेनी चाहिए, संक्रमण होने पर आ सकती हैं जटिलताएंः डॉ वी के पॉल

वर्तमान कोविड स्थिति पर स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस वार्ता में डॉ वी के पॉल ने कहा कि आने वाले त्योहारों के मौसम को देखते हुए कोविड उपयुक्त व्यवहार सभी के लिए जरूरी है, क्योंकि दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है। घर पर त्योहार मनाएं और बाहर जाने से बचें।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वी.के. पॉल ने गुरुवार को कहा कि गर्भवती महिलाओं को टीकाकरण के लिए आगे आना चाहिए और उन्हें कोविड वैक्सीन की दोनों खुराक लेनी चाहिए। अन्यथा यदि उस अवधि के दौरान उन्हें संक्रमण हो जाता है, तो उन्हें जटिलताएं हो सकती हैं।

वर्तमान कोविड स्थिति पर स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि यह देखते हुए कि त्योहारों का मौसम आ रहा है, कोविड के लिए उपयुक्त व्यवहार सभी के लिए जरूरी है, क्योंकि दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है। उन्होंने जोर देकर कहा, "घर पर त्योहार मनाएं और बाहर जाने से बचें। दोनों खुराक के बाद भी मास्क सभी के लिए जरूरी है।"


स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि तीन राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों- सिक्किम, दादरा और नगर हवेली और हिमाचल प्रदेश ने अपनी 18 से अधिक आबादी के 100 प्रतिशत लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की पहली खुराक दे दी है। सिक्किम ने अपनी 36 प्रतिशत आबादी को दूसरी खुराक दी है, दादरा और नगर हवेली ने 18 प्रतिशत और हिमाचल प्रदेश ने 32 प्रतिशत को दूसरी खुराक दी है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, देश की कुल वयस्क आबादी के 16 फीसदी लोगों को पूरी तरह से कोरोना टीका लगाया जा चुका है, जबकि 54 फीसदी लोगों को कम से कम एक टीका लग चुका है। वहीं ताजा आंकड़ों के अनुसार गुरुवार शाम तक देश में को​विड वैक्सीनेशन का आंकड़ा 66.98 करोड़ के पार पहुंच गया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia