प्रियंका गांधी का योगी सरकार पर हमला, कहा- महिलाओं के खिलाफ अपराध में यूपी सबसे आगे, शिक्षा में सबसे पीछे

बेटियों को शिक्षा देने के मामले में यूपी सबसे निचले स्तर पर है, जबकि केरल का प्रदर्शन सबसे बेहतर है। हाल ही में एक सरकारी डाटा में इस बात की पुष्टि हुई है। इसको लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बीजेपी सरकार पर हमला बोला है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ नारे देने वाले बीजेपी शासित राज्य में लड़कियों की शिक्षा निचले स्तर तक पहुंच गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, “यह बात बहुत परेशान करने वाली है। एक तरफ तो महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले में यूपी सबसे ऊपर है और दूसरी तरफ लड़कियों की शिक्षा के मामले में यूपी सबसे नीचे। बीजेपी वालों को खुद के बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ नारे की दुर्गति करने के बाद भी शर्म क्यों नहीं आती।”

प्रियंका गांधी का योगी सरकार पर हमला, कहा- महिलाओं के खिलाफ अपराध में यूपी सबसे आगे, शिक्षा में सबसे पीछे

गौरतलब है कि देश की बेटियों को शिक्षा देने के मामले में यूपी सबसे निचले स्तर पर है, जबकि केरल का प्रदर्शन सबसे बेहतर है। हाल ही में एक सरकारी डाटा में इस बात की पुष्टि हुई है। डाटा के अनुसार, लड़कियों के शैक्षिक संस्थानों में विशेष उम्र संबंधी अटेंडेंस अनुपात (एएसएआर) सबसे बेहतर पाया गया है।

सरकार के स्टैटिस्टिक एंड प्रोग्राम इम्पलिमेंटेशन मंत्रालय ने “हाउसहोल्ड सोशल कं कन्सम्प्शन एजुकेशन नाम से सर्वे कराया था। इस सर्वे के मुताबिक, केरल के अलावा हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, तेलंगाना और तमिलनाडु में भी एएसएआर दर उच्च पायी गई है।

प्री यूनिवर्सिटी लेवल की बात करे तो, जिसमें कक्षा 11 और 12 आती हैं, उस ग्रुप में यह 99.5 प्रतिशत था। प्री प्राइमरी लेवल पर केरल के अलावा जिन राज्यों का प्रदर्शन अच्छा है, उनमें पंजाब (57 प्रतिशत), तेलंगाना (54 प्रतिशत), तमिलनाडु (54 प्रतिशत), हिमाचल प्रदेश (53 प्रतिशत) और दिल्ली (50 प्रतिशत) का नाम शामिल है।

प्री-यूनिवर्सिटी लेवल की बात करें तो यहां केरल के अलावा हिमाचल प्रदेश (94.4 प्रतिशत), उत्तराखंड (92.7 प्रतिशत), तेलंगाना (92.1 प्रतिशत), तमिलनाडु (91.6 प्रतिशत) का नंबर आता है। दोनों ही ग्रुप में जिस राज्य का प्रदर्शन सबसे खराब रहा, वो उत्तर प्रदेश है। यहां प्री प्राइमरी लेवल पर लड़कियों की शैक्षिक संस्थानों में उपस्थिति 22.7 प्रतिशत और प्री यूनिवर्सिटी लेवल पर यह आंकड़ा 64.5 प्रतिशत है।

यह बात हुई यूपी में बेटियों की शिक्षा की, लेकिन दूसरी ओर यूपी में बेटियां सुरक्षित भी नहीं है। आए दिन उनके साथ रेप, छेड़खानी और हत्या की खबरें सामने आती हैं। यूपी में महिलाओं और बेटियों के साथ बढ़ते अपराध को लेकर प्रियंका गांधई ने पीएम मोदी और यूपी की बीजेपी सरकार पर हमला बोला था। उन्होंने टकहा था कि महिलाओं की सुरक्षा व्यवस्था और यूपी में महिलाओं के खिलाफ हो रहे जघन्य अपराधों पर पीएम मोदी अपना मौनव्रत तोड़ देंगे। यूपी की बीजेपी सरकार तो बेशर्म हो चुकी है। कानून व्यवस्था उसके बस के बाहर की बात है।

लोकप्रिय