बढ़ते क्राइम पर प्रियंका का सीएम योगी पर हमला, कहा- मासूमों पर दरिंदगी जारी, लेकिन सत्ता की राग दरबारी आंखें बंद 

यूपी में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि राज्य में मासूमों पर दरिंदगी हो रही है और लोगों को जिंदा जला दिया जा रहा है, लेकिन सत्ता की राग दरबारी आंखें कुछ नहीं देख रही हैं।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

यूपी में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर सीएम योगी पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “उत्तर प्रदेश में मासूमों पर दरिंदगी की जा रही है। औरतों को खौफ के माहौल में ढकेला जा रहा है। आदमी को जिंदा जला दिया जा रहा है। मगर सत्ता की राग दरबारी आंखें कुछ नहीं देख रही हैं। यूपी सरकार औरतों और बच्चियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी कब लेना शुरू करेगी?”

प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट में महिलाओं और बच्चियों के साथ हुई वारदातों का जिक्र किया है। प्रियंका गांधी ने आगरा में 14 जून को हुई बार काउंसिल अध्यक्ष दरवेश यादव की हत्या, अलीगढ़ में महिला को जिंदा जलाने की वारदात और अलीगढ़ में मासूम बच्ची की हत्या जैसी अपराधिक घटनाओं के लिए यूपी सरकार को आड़े हाथ लिया।

उन्होंने अपने ट्वीट में बंदायू का भी जिक्र किया है। जहां 15 दिन थाने के चक्कर काटने पर भी गैंगेरेप पीड़िता का एफआईआर दर्ज नहीं किया गया। जिससे परेशान पीड़िता ने फांसी लगा ली और सुसाइड नोट लिखकर न्याय मांगा।

लेकिन सबसे ज्यादा देश को झकझोरने वाला मामला यूपी में अलीगढ़ से है। जहां टप्पल में 30 मई को एक ढाई साल की बच्ची गायब हुई थी। दो जून को उसका क्षत-विक्षत शव घर से 100 मीटर दूर मिला। मासू बच्ची के साथ हैवानियत की सारी हदें पार कर दी गई थी। इसको लेकर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर हमला बोला था। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, “अलीगढ़ की मासूम बच्ची के साथ हुई अमानवीय और जघन्य घटना ने हिलाकर रख दिया है। हम ये कैसा समाज बना रहे हैं? बच्ची के माता-पिता पर क्या गुजर रही है ये सोचकर दिल दहल जाता है। अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।”

इससे पहले प्रियंका गांधी ने एक पत्रकार को योगी पर टिप्पणी के लिए जेल भेजे जाने का विरोध किया था। उन्होंने लिखा था, “जनता के मुद्दों पर काम करने की बजाय, उत्तर प्रदेश सरकार पत्रकारों, किसानों, प्रतिनिधियों पर डर का डंडा चला रही है।”

लोकप्रिय