प्रियंका गांधी ने योगी को दिया करारा जवाब, दलित बस्ती में लगाया झाड़ू, कहा- ये अपमान नहीं, स्वाभिमान का प्रतीक

प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री योगी की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए कहा कि जातिवादी टिप्पणी बर्दाश्त नहीं। योगी आदित्यनाथ की टिप्पणी दलित विरोधी है। साफ-सफाई, झाड़ू-पोछा करना छोटा काम नहीं है। करोड़ों महिलाओं और दलित समाज का योगी ने अपमान किया है।

फोटोः @INCIndia
फोटोः @INCIndia
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को लखनऊ के इंदिरा नगर इलाके की एक दलित बस्ती लवकुश नगर का दौरा किया और वहां के स्थानीय लोगों से बातचीत की। उन्होंने इस दौरान वहां के लोगों के साथ एकजुटता व्यक्त करने के लिए एक झाड़ू उठाई और इलाके की सफाई की। उन्होंने कहा, "यह स्वाभिमान और सादगी की निशानी है। करोड़ों महिलाएं रोजाना झाड़ू से अपने घर की सफाई करती हैं।"

प्रियंका गांधी ने योगी को दिया करारा जवाब, दलित बस्ती में लगाया झाड़ू, कहा- ये अपमान नहीं, स्वाभिमान का प्रतीक

प्रियंका गांधी ने यहां के वाल्मीकि मंदिर में साफ-सफाई की। उन्होंने मंदिर परिसर में झाड़ू लगाया। इसके बाद प्रियंका ने मुख्यमंत्री योगी की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए कहा, “जातिवादी टिप्पणी बर्दाश्त नहीं। योगी आदित्यनाथ की टिप्पणी दलित विरोधी है। साफ-सफाई, झाड़ू-पोछा करना छोटा काम नहीं है। करोड़ों महिलाओं और दलित समाज का योगी ने अपमान किया है।”

प्रियंका गांधी ने योगी को दिया करारा जवाब, दलित बस्ती में लगाया झाड़ू, कहा- ये अपमान नहीं, स्वाभिमान का प्रतीक

दरअसल इससे पहले सीएम योगी प्रियंका गांधी के सीतापुर में हिरासत में रहने के दौरान फर्श पर झाड़ू लगाने पर कटाक्ष किया था। योगी से गोरखपुर में एक समाचार सम्मेलन में प्रियंका गांधी के फर्श पर झाडू लगाने के बारे में पूछा गया था, तो उन्होंने कहा था कि वह केवल उसी में अच्छी लगती हैं। जनता उनको उसी लायक बनाना चाहती है और जनता ने उसी लायक उनको बना दिया है।

योगी के बयान पर कांग्रेस ने भी सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस ने पीएम मोदी के स्वच्छता अभियान के तहत झाड़ू लगाने को सिर्फ प्रचार करार दिया है। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खडगे ने योगी को जवाब देते हुए कहा कि झाड़ू लगा कर कचरा साफ करने में कोई बुराई नहीं है। सीएम योगी की यह साधारण टिप्पणी नहीं है, एक पूरे वर्ग की ओर उनकी नफरत है। झाड़ू तो मोदी जी और आदित्यानाथ ने भी पकड़ा, लेकिन वो जानते हैं कि वो सिर्फ प्रचार था। उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी का लक्ष्य यूपी से अपराध साफ करना है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia