फुल राजनीतिक एक्शन में प्रियंका गांधी,कर्नाटक को लेकर किया बीजेपी पर कटाक्ष, फिर से सोनभद्र जाने की चर्चा

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी फुल राजनीतिक एक्शन में हैं। उन्होंने कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार गिराए जाने को लेकर बीजेपी पर तीखा निशाना साधा है। साथ ही उनके एक बार फिर सोनभद्र जाने की चर्चा है।

सोनभद्र पीड़ितों के साथ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी
सोनभद्र पीड़ितों के साथ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी

नवजीवन डेस्क

प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के साथ ही देश के राजनीतिक घटनाक्रम पर सटीक टिप्पणियां की हैं। कर्नाटक में बीजेपी द्वारा साम, दाम, दंड, भेद का इस्तेमाल कर लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई कुमारस्वामी सरकार गिराए जाने को लेकर बीजेपी पर तीखा निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि एक दिन बीजेपी के भ्रष्टाचार और झूठ का पर्दाफाश होगा।

प्रियंका गांधी ने कहा कि, “एक दिन बीजेपी को पता चलेगा कि हर चीज नहीं खरीदी जा सकती, हर किसी को प्रताड़ित नहीं किया जा सकता और आखिरकार झूठ का पर्दाफाश होता है। उन्होंने एक ट्वीट में आगे कहा कि तब तक मुझे लगता है कि देश को और आम नागरिकों को बीजेपी के भ्रष्टाचार और दशकों की लगन और त्याग से बनाए गए लोगों के हितों की रक्षा करने वाले संस्थानों को ध्वस्त करने की प्रक्रिया को सहना होगा।”

इस बीच चर्चा है कि प्रियंका गांधी एक बार फिर सोनभद्र जाने वाली हैं। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में दबंगों ने जमीन कब्जाने के लिए नरसंहार किया था, जिसमें 10 लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया था। इस घटना के पीड़ितों से मिलने के लिए प्रियंका गांधी सोनभद्र जाना चाहती थीं, लेकिन योगी सरकार ने उन्हें बीच रास्ते में ही रोक कर गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद प्रियंका गांधी ने वहीं धरना दिया और मजबूर होकर बीजेपी सरकार को झुकना पड़ा था।

इस घटना के राजनीतिक तूल पकड़ने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी सोनभद्र में पीड़ित परिवारों से मुलाकात की थी और मुआवजे का ऐलान किया था। प्रियंका गांधी ने इसी ऐलान को लेकर एक बार फिर योगी सरकार पर कटाक्ष किया था।

उन्होंने कहा था कि, “उम्भा गाँव के पीड़ितों की आवाज का जब कांग्रेस के हजारों कार्यकर्ताओं, न्यायपसंद लोगों ने साथ दिया तब उप्र सरकार को भी लगा कोई गम्भीर घटना घटी है। आज जो घोषणाएँ की गयी हैं उनपर जल्द अमल हो। आदिवासियों को जमीन का मालिकाना मिले और सबसे जरूरी कि गाँव के लोगों को पूरी सुरक्षा हो।”

इस बीच चर्चा है कि प्रियंका गांधी एक बार फिर सोनभद्र जाने वाली हैं। 19 जुलाई को प्रियंका गांधी ने सोनभद्र नरसंहार के पीड़ित परिवारों को कांग्रेस पार्टी की तरफ से 10-10 लाख के मुआवज़े का ऐलान किया था। अब प्रियंका गांधी खुद इन परिवारों को मुआवज़े की धनराशि का चेक सौंपना चाहती हैं, जिसके लिए आने वाले दो-तीन दिनों के भीतर दोबारा उनके सोनभद्र दौरे की तैयारी की जा रही है।

पार्टी के वरिष्ठ सूत्रों के मुताबिक प्रियंका गांधी के सोनभद्र दौरे की तारीख का ऐलान कभी भी हो सकता है। प्रियंका गांधी सोनभद्र मामले पर शुरुआत से ही सरकार को घेरती रही हैं। राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि प्रियंका गांधी के दोबारा सोनभद्र जाने की बात से यह तो साफ हो जाता है कि वह इस मामले को आसानी से ठंडा नहीं होने देंगी। वे चाहती हैं कि लोगों के जहन में सोनभद्र का मामला जिंदा रहे।

लोकप्रिय