प्रियंका गांधी ने असम में शुरू किया चुनाव प्रचार, बेरोजगारी के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान की शुरुआत

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को असम में प्रचार शुरु किया। उन्होंने लखीमपुर में बेरोजगारी के खिलाफ प्रदेश व्यापी अभियान की शुरुआत की। आने वाले दिनों में कांग्रेस राज्य भर में सरकारी रोजगार दफ्तरों के सामने प्रदर्शन करेगी।

फोटो : @INCIndia
फोटो : @INCIndia
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सोमवार को असम में पार्टी के प्रचार के लिए पहुंचीं। राज्य में कांग्रेस की अगुवाई में सात दलों वाला गठबंधन बीजेपी के तीन पार्टियों वाले गठबंधन से दो-दो हाथ करने के लिए तैयार है। गुवाहाटी पहुंचने के तुरंत बाद प्रियंका गांधी प्रसिद्ध कामाख्या देवी मंदिर पहुंची और पूजा अर्चना की। मंदिर का पुनर्निर्माण 1565 में कोच राजा नरनारायण द्वारा किया गया था और यह भारत के 51 पवित्र स्थलों में से एक है।

असम कांग्रेस मीडिया विभाग की चेयरपर्सन बबीता शर्मा ने कहा कि अपने असम दौरे में प्रियंका गांधी पार्टी के पदाधिकारियों और आम लोगों के साथ बातचीत करेंगी और मंगलवार को तेजपुर में जनसभा को संबोधित करेंगी। वे बेरोजगारी के मुद्दे पर एक राज्यव्यापी अभियान शुरू करेंगी और चाय बगान में महिला श्रमिकों और स्वयं सहायता समूह के सदस्यों के साथ बातचीत करेंगी।

प्रियंका गांधी ने असम में शुरू किया चुनाव प्रचार, बेरोजगारी के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान की शुरुआत
प्रियंका गांधी ने असम में शुरू किया चुनाव प्रचार, बेरोजगारी के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान की शुरुआत
प्रियंका गांधी ने असम में शुरू किया चुनाव प्रचार, बेरोजगारी के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान की शुरुआत
प्रियंका गांधी ने असम में शुरू किया चुनाव प्रचार, बेरोजगारी के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान की शुरुआत
प्रियंका गांधी ने असम में शुरू किया चुनाव प्रचार, बेरोजगारी के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान की शुरुआत
प्रियंका गांधी ने असम में शुरू किया चुनाव प्रचार, बेरोजगारी के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान की शुरुआत
प्रियंका गांधी ने असम में शुरू किया चुनाव प्रचार, बेरोजगारी के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान की शुरुआत
प्रियंका गांधी ने असम में शुरू किया चुनाव प्रचार, बेरोजगारी के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान की शुरुआत
प्रियंका गांधी ने असम में शुरू किया चुनाव प्रचार, बेरोजगारी के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान की शुरुआत

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और लोकसभा सदस्य राहुल गांधी ने 14 फरवरी को राज्य का दौरा किया था और पूर्वी असम के शिवसागर में एक सार्वजनिक सभा को संबोधित किया था। असम में कांग्रेस करीब 15 वर्ष (2001-2016) तक सत्ता में रही है। इस बार कांग्रेस ने तीन वामपंथी दल - सीपीआई, सीपीएम और सीपीआई (माले) के अलावा आंचलिक गण मोर्चा, बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (बीपीएफ) और तीन क्षेत्रीय दलोंं के साथ मिलकर महागठबंधन बनाया है।

इस बीच सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी से नाता तोड़ने के एक दिन बाद बीपीएफ रविवार को कांग्रेस के नेतृत्व वाले महागठबंधन में शामिल हो गई। 126 सदस्यीय असम विधानसभा के चुनाव 27 मार्च, 1 अप्रैल और 6 अप्रैल को तीन चरणों में होंगे। चुनाव नतीजे 2 मई को घोषित किए जाएंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia